ट्रंप अपने नेवी चीफ को भेज रहे हैं भारत, चीन के खिलाफ बन रही है ये रणनीति,

अमेरिकी नौसेना के प्रमुख एडमिरल जॉन रिचर्डसन अपने समकक्ष और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से मिलने के लिए रविवार से शुरू होने वाली तीन दिवसीय भारत यात्रा शुरू करेंगे.

अमेरिकी नेवी चीफ की इस यात्रा को इंडो-पैसिफिक में चीन के खिलाफ रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है. 12 से 14 मई की यात्रा रिचर्डसन की नौसेना के प्रमुख के रूप में भारत की दूसरी यात्रा होगी.

यह यात्रा दो भारतीय नौसैनिक जहाजों द्वारा विवादित दक्षिण चीन सागर में अमेरिका, फिलीपींस और जापान की से हाथ मिलाने के बाद की जा रही है. एक बयान में अमेरिकी नौसेना ने कहा कि यह यात्रा सूचनाओं को साझा करने और दोनों नौसेनाओं के बीच रणनीतिक साझेदारी मजबूत करने के लिए की जा रही है.

इंडो-पैसिफिक एक विशाल महासागर है जिसमें अफ्रीका के पूर्वी तट से लेकर अमेरिका के पश्चिमी तट से शुरू होने वाले दक्षिण चीन सागर सहित कई देश शामिल हैं. चीन लगभग पूरे दक्षिण चीन सागर पर दावा करता है, जबकि ब्रुनेई, मलेशिया, फिलीपींस, वियतनाम और ताइवान भी दावेदार हैं. अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर में नेविगेशन का स्वतंत् अभ्यास आयोजित किया, जिसने बीजिंग से कहा कि यह संप्रभुता का उल्लंघन है. भारतीय नौसेना नियमित रूप से इस क्षेत्र में अन्य देशों के अलावा सिंगापुर और वियतनाम में पोर्ट कॉल आयोजित करती है.