सैम पित्रोदा के बयान पर राहुल गांधी ने दी सफाई, फेसबुक पोस्ट लिख कही ये बात,

1984 में हुए सिख दंगों पर कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के बयान के बाद कांग्रेस मुसीबत में फंस गई. 

पित्रोदा के बयान के बाद पार्टी ने डैमेज कंट्रोल करने की खूब कोशिश की. उसके बाद खुद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इस मामले में सामने आना पड़ा और सफाई देनी पड़ी. राहुल गांधी ने शुक्रवार रात करीब दस बजे फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा और सैम पित्रोदा के बयान को कांग्रेस से अलग और इसे पूरी तरह गलत बताया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने फेसबुक पर लिखा कि 1984 एक भयावह त्रासदी थी. इसमें न्याय होना चाहिए. राहुल गांधी ने आगे लिखा, जो लोग भी इसके लिए जिम्मेदार हैं उन्हें सजा मिलनी चाहिए. पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और मेरी मां सोनिया गांधी भी इस बारे में माफी मांग चुकी हैं.

राहुल गांधी ने लिखा हमारा पक्ष स्पष्ट है कि 1984 जैसी भयावह त्रासदी कभी नहीं होनी चाहिए. उन्होंने आगे लिखा कि, मैंने खुद पित्रोदा को इस बयान के लिए माफी मांगने को कहा है.

हालांकि राहुल गांधी की इस फेसबुक पोस्ट से पहले खुद पित्रोदा ने सफाई देने की पूरी कोशिश की. उन्होंने कहा कि बीजेपी अपनी नाकामियां छिपाने के लिए मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश कर रही है. उन्होंने कहा कि 1984 में मुश्किल समय में सिख भाइयों-बहनों के दर्द का मुझे अहसास है. उन्होंने कहा कि मैं उन अत्याचारों के बारे में आज भी महसूस करता हूं.