नाथूराम गोडसे को आतंकी कहने पर कमल हासन पर फेंकी चप्पल, 11 के खिलाफ शिकायत दर्ज,

अभिनेता से नेता बने कमल हासन पर बुधवार की शाम चुनाव प्रचार के दौरान चप्पल फेंगी गई. 

ऐसा माना जा रहा है कि हासन पर नाथूराम गोडसे को भारत का पहला आतंकवादी करने पर उनके साथ ऐसा हुआ. यही नहीं इससे पहले AIADMK के एक नेता ने कमल हासन की जीभ काटने की भी बात कही थी.

बता दें कि कमल हासन बुधवार को तिरुप्पारनकुंद्रम विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार कर रहे थे. उसी दौरान उनपर किसी ने चप्पल फेंक दी. इस मामले में 11 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है.जिसमें बीजेपी कार्यकर्ता और दूसरे संगठन के लोगों का भी नाम है. बता दें कि जब हासन स्टेज से लोगों को संबोधित कर रहे थे, तब उनकी तरफ चपप्ल फेंकी गई. हालां कि हासन को चप्पल नहीं लगी और भीड़ पर गिर गई.

सोमवार को कमल हासन ने तमिलनाडु के अरवाकुरिची विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि, “मैं ये इसलिए नहीं कह रहा कि यहां काफी संख्या में मुसलमान हैं. मैं ये महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने कह रहा हूं. आजाद भारत में पहला आतंकवादी एक हिंदू था. उसका नाम था- नाथूराम गोडसे.”

अरवाकुरिची और तिरुप्पारनकुंद्रम में रविवार को विधानसभा उपचुनाव होना है और कमल हासन की पार्टी मक्कल निधि मय्यम पहली बार चुनावी मैदान में है. जहां से हासन ने अपने अपना भी उम्मीदवार उतारा है. नाथूराम गोडसे पर दिए कमल हासन के बयान पर पलटवार करते हुए तमिलनाडु बीजेपी की अध्यक्ष तमिलसाईं सुंदरराजन एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा,

“हम कमल हासन के चुनाव प्रचार के दौरान हिंदू अतिवादी के बारे में बात करने की निंदा करते हैं. वह ऐसी जगह सांप्रदायिक हिंसा भड़का रहे हैं, जहां बहुत सारे अल्पसंख्यक हैं. चुनाव आयोग को इस भाषण के लिए कमल हासन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.” यही नहीं राज्य सरकार में मंत्री केटी राजेंद्र भालाजी ने हासन के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि, उनकी जीभ काट देनी चाहिए. साथ ही उन्हें पद से हटाने की भी बात कही थी.