केरल के त्रिसूर में मोदी, गुरुवायूर मंदिर में कर रहे हैं विशेष पूजा


गुरुवायूर मंदिर काफी पुराना है. मंदिर के गर्भगृह में श्रीकृष्ण की मूर्ति है. पीएम मोदी नेवी के हेलीकॉप्टर से मंदिर पहुंचे. केरल दौरे के लिए पीएम मोदी शुक्रवार रात ही कोच्चि पहुंचे.
पीएम मोदी

प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी अपनी पहली यात्रा पर हैं. पीएम मोदी आज यानी शनिवार को केरल में रहेंगे. पीएम मोदी केरल के त्रिसूर पहुंच गए हैं. पीएम यहां पर प्रसिद्ध गुरुवायूर मंदिर में विशेष पूजा कर रहे हैं. पूजा के बाद पीएम मोदी बीजेपी कार्यकर्ताओं को भी संबोधित करेंगे.

– पीएम मोदी गुरुवायूर मंदिर में दर्शन के लिए पहुंच गए हैं.

बता दें कि गुरुवायूर मंदिर काफी पुराना है. मंदिर के गर्भगृह में श्रीकृष्ण की मूर्ति है. पीएम मोदी नेवी के हेलीकॉप्टर से मंदिर पहुंचे. केरल दौरे के लिए पीएम मोदी शुक्रवार रात ही कोच्चि पहुंचे. वह एर्नाकुलम गेस्ट हाउस में रुके हैं. मंदिर में दर्शन और जनसभा को संबोधित करने के बाद मोदी कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हावई अड्डे से दिल्ली के लिए दोपहर 2 बजे रवाना हो जाएंगे. इसके बाद पीएम मोदी आज ही मालदीव और श्रीलंका यात्रा के लिए रवाना हो जाएंगे.

बीजेपी की प्रदेश इकाई ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ जून को गुरुवायूर श्रीकृष्ण मंदिर में पूजा करेंगे. गुरुवायूर श्रीकृष्ण एचएस मैदान में सुबह आम सभा होगी. सभी का स्वागत है. पीएम मोदी ऐसे समय केरल के दौरे पर है जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के तीन दिवसीय दौरे पर हैं.

5000 साल पुराना है मंदिर

गुरुवायूर मंदिर 5000 साल पुराना है और 1638 में इसके कुछ भाग का पुनर्निमाण किया गया था. इस मंदिर में केवल हिंदू ही पूजा कर सकते हैं. दूसरे धर्मों के लोगों के अंदर प्रवेश पर रोक है. 

गुरुवायूर देवासम बोर्ड के अध्यक्ष केबी मोहनदास ने बताया कि पीएम मोदी ने थुलाभारम रस्‍म अदा करने की इच्छा जताई थी. इसके तहत वे कमल का फूल चढ़ाएंगे. इसके लिए मंदिर प्रशासन ने 112 किलो कमल के फूल का इंतजाम कर रहा है. पीएम मोदी के पूजा करने के दौरान जनता के लिए मंदिर का द्वार सुबह 9 से 11 बजे के बीच बंद रहेगा. प्रधानमंत्री के दौरे के कारण सुरक्षा चाक चौबंद कर दिया गया है.

गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी ने 2008 में गुजरात के मुख्यमंत्री के पद पर रहते हुए इस मंदिर में पूजा-अर्चना की थी. तब भी उन्होंने थुलाभारम रस्म अदा की थी.


hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap