भारत का ऑस्ट्रेलिया के साथ मुक़ाबला आसान नहीं होगा: वर्ल्ड कप 2019 डायरी

विराट कोहली

आमतौर पर व्यस्त रहने वाला ओवल ट्यूब स्टेशन शुक्रवार को कुछ ख़ाली-ख़ाली सा नज़र आ रहा था. शाम से ही लंदन में लगातार बारिश हो रही थी जिसकी वजह से ट्रेन सेवाओं पर असर पड़ा था.

स्टेशन के आस-पास जिन कुछ छोटी दुकानों पर अख़बार, चॉकलेट या दूसरे स्टेशनरी के सामान मिल जाते हैं, वो या तो बंद थीं या फिर दुकानदारों ने शटर आधा गिरा रखा था.

ओवल स्टेशन से पांच मिनट चलते हुए आगे बढ़ें तो ओवल क्रिकेट ग्राउंड आ जाता है. ओवल क्रिकेट ग्राउंड सर्रे काउंटी टीम का होम ग्राउंड है. लंदन के अगर कुछ परंपरागत मैदानों की बात करें तो ओवल उनमें से एक है. बहुत से नामचीन खिलाड़ियों का ये होम ग्राउंड रह चुका है. जेसन रॉय, सैम करेन और मार्क बुचर जैसे खिलाड़ी यहीं से निकले हैं.

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ़ साउथहैंप्टन में में अपना पहला मैच खेलने और जीतने के बाद भारतीय टीम लंदन पहुंच गई है. रविवार को भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ मैदान पर उतरेगी.

शिखर धवन

रविवार को नतीजा क्या होगा वो तो अभी कोई नहीं कह सकता है लेकिन लंदन पहुंची टीम इंडिया का स्वागत ज़ोरदार हुआ….शहर में हो रही रिमझिम बारिश ने उनके स्वागत में कोई कसर नहीं छोड़ी. हालांकि स्वागत तो अच्छा रहा लेकिन इस बूंदा-बांदी के चक्कर में टीम इंडिया शुक्रवार को प्रैक्टिस ठीक से नहीं कर पाई. कप्तान विराट कोहली, ओपनर शिखर धवन ने बैटिंग कोच संजय बांगर के साथ स्टेडियम में कुछ एक-दो शॉट खेले लेकिन बारिश ने उन्हें जल्दी ही वापस भेज दिया.

एक तरफ़ जहां बारिश के चलते प्रैक्टिस पर असर पड़ा वहीं स्टेडियम के आस-पास लोग बी कम ही नज़र आए. ये उस नज़ारे से बिल्कुल ही उलट था जो हमने इससे पहले साउथहैंप्टन में देखा था. साउथहैंप्टन में तो असल मैच होने के एक दिन पहले ही स्टेडियम के पास इतने लोग जमा हो गए थे कि हर तरफ़ सिर्फ़ लोग ही लोग दिख रहे थे. भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों के प्रशंसक सिर्फ़ भारत से ही तो नहीं…दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से आए ये प्रशंसक स्टेडियम के मुख्य द्वार पर ये सोचकर देखे जा रहे थे कि शायद कोई उनका पसंदीदा खिलाड़ी दिख जाए.

ओवल की तरफ़ जाने वाली सड़कों पर लगभग सन्नाटा सा पसरा हुआ था. बहुत कम लोग ही नज़र आ रहे थे जो शायद मैच की टिकट ख़रीदने आए हुए ते. उनमें से कोई भी शायद हताश होकर नहीं लौटे क्योंकि लगभग सभी के हाथ में लौटते समय टिकट दिख रही थी. वहां पर कुछ मीडिया के लोग भी थे, कुछ सुरक्षाकर्मी भी और कुछ प्रशंसक. उन्हें देखकर शायद ही कोई ये अंदाज़ा लगा सके कि इस मैदान में रविवार को एक बहुत बड़ा मुक़ाबला होने वाला है. इससे पहले कभी भी जब ऐसा कोई बड़ा मैच होता है तो इस स्टेडियम की रंगत ही कुछ और होती है.

विराट कोहली

ऐसा अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि शनिवार को भी बारिश होगी. ऐसे में ये दोनों टीमों के लिए देखने वाली बात होगी कि क्या वे शनिवार को मैच प्रैक्टिस कर पाते हैं या नहीं.

रविवार को होने वाले मैच की टिकट ख़रीदने दक्षिणी इंग्लैंड से आए विजय ने हमें बताया कि इस मौसम में यहां बारिश होना कोई नई बात तो नहीं है. लेकिन हां, रविवार को सूरज निकलेगा और बारिश की भी आशंका नहीं है.

विजय कहते हैं कि रविवार को होने वाला मैच भारत के लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहेगा. यह बिल्कुल भी इकतरफ़ा नहीं होने वाला. विजय को लगता है कि भारत को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को लेकर सबसे ज़्यादा चौकन्ना रहने की ज़रूरत है.

धोनी के बलिदान बैज वाल दस्ताने को लेकर बवाल

विश्व कप में भारत ने अभी तक सिर्फ़ एक ही मैच खेला और जीता भी है लेकिन ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा भी भारी है.

वेस्टइंडीज़

ऑस्ट्रेलिया भारत से भिड़ने से पहले अफ़गानिस्तान को सात विकेट और वेस्टइंडीज़ को 15 रन से शिकस्त दे चुका है.

शाकिर नाम के शख़्स मुझे यहीं मिले. उनका मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करेंगे. उनका कहना था कि भारत और ऑस्ट्रेलिया का मैच हमेशा से खेल प्रेमियों के लिए सौगात की तरह होता है. धोनी इस बार कमाल करेंगे. कुछ महीने पहले जब ऑस्ट्रेलिया में एकदिवसीय मैचों की सिरीज़ हुई थी तो उन्हें मैन ऑफ़ द सिरीज़ चुना गया था. हो सकता है ये उनकी आख़िरी सिरीज़ हो और हम सभी चाहते हैं कि उनकी विदाई कुछ ख़ास अंदाज़ में हो.

धोनी

यहां के लोगों से धोनी के बारे में बात करो तो वो धोनी के खेल के साथ-साथ उस दस्ताने का ज़िक्र भी करने से चूकते नहीं हैं जिसे लेकर आजकल चर्चा है. लेकिन मैच देखने आए प्रशंसक इस सारे मामले पर क्या सोचते हैं?

तमिलनाडु से अपने दोस्तों के साथ मैच देखने पहुंचे यश कहते हैं कि धोनी ने ऐसा कुछ भी तो नहीं किया है जो किसी वर्ग और जाति के लिए अपमानजनक हो या ख़िलाफ़ हो. ये पूरी तरह उनकी पसंद है और ये उनके देशप्रेम को दिखाता है.

क्या होगा रविवार के मुक़ाबले में?

भारत का पहला मैच साउथहैंप्टन में दक्षिण अफ्रीका से था. भारत ने अच्छा खेल दिखाते हुए जीत हासिल की लेकिन सच ये है कि भारत के लिए ऑस्ट्रेलिया पर जीत हासिल कर पाना इतना आसान तो नहीं होगा. ऐसा कहने के पीछ वजह ये है कि डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ वापसी कर चुके हैं और स्टार्क ने पिछले मैच में जिस तरह से पांच विकेट निकाले उससे ऑस्ट्रेलिया को हल्के में तो नहीं ही लिया जा सकता है.

ऑस्ट्रेलिया
इस विश्व कप के ओवल में खेले गए तीन मैचों में से पहले बल्लेबाजी करने वाली दो टीमें मैच जीतीं जबकि जबकि तीसरे मैच में न्यूज़ीलैंड ने एक बेहद कांटे के मुक़ाबले में बांग्लादेश को हराया. न्यूज़ीलैंड स्कोर का पीछे कर रही थी.

ओवल के इस मैदान में रनों की बारिश होती है लेकिन यहां की गेंदबाज़ी भी उतनी ही धारदार है.

साउथहैंप्टन में भारत का पहला मुकाबला देखने के बाद दूसरा मैच देखने आए नेविल कहते हैं कि ये कांटे का मुक़ाबला होगा. किसी को ये नहीं भूलना चाहिए कि विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया का भारत के ख़िलाफ़ प्रदर्शन अच्छा रहा है. ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ जैसे स्टार्क और कमिंस विराट कोहली और रोहित शर्मा के लिए तैयार होंगे. स्टार्क की गेंदबाजी ऑस्ट्रेलिया के लिए क़ीमती साबित हो सकती है. लेकिन अगर कोहली टिक गए तो ऑस्ट्रेलिया का खेल ख़त्म.

हालांकि उम्मीद की जा रही है कि रविवार को दिन अच्छा रहे लेकिन तय तो कुछ भी नहीं है. क्योंकि देश के इस हिस्से में किसी भी वक्त मौसम बदल जाता है. चिलचिलाती गर्मी से यहां बारिश में आकर भी भारतीय क्रिकेट टीम के प्रशंसक सिर्फ यही कह रहे हैं… बारिश अभी नहीं…बाद में जमकर बरस लेना.