बंगाल: हिंसा को लेकर गृह मंत्रालय के परामर्श पर ममता सरकार का जवाब, स्थिति ‘नियंत्रण’ में है


तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने केन्द्र द्वारा राज्य सरकार को परामर्श भेजे जाने को राज्य सरकार के खिलाफ षडयंत्र बताया है. पश्चिम बंगाल सरकार को दिये परामर्श में गृह मंत्रालय ने उससे कानून व्यवस्था और शांति बनाये रखने को कहा था.

West Bengal: Mamata banerjee government replies to centre on violence situation under control

कोलकातापश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने केन्द्र को एक पत्र लिख कर कहा है कि राज्य में लोकसभा चुनाव के बाद झड़प की छिटपुट घटनाएं हुई हैं, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है. दरअसल, तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा में शनिवार को चार लोगों के मारे जाने के बाद केंद्र सरकार ने एक परामर्श जारी किया था, जिस पर राज्य सरकार ने यह जवाब दिया है.

सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी कार्रवाई करते हैं- राज्य सरकार

राज्य के मुख्य सचिव मलय कुमार डे ने गृह मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा है, ‘‘हिंसा के सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी और उचित कार्रवाई की गई.’’  उन्होंने लिखा, ‘‘कुछ असमाजिक तत्वों ने चुनाव बाद झड़प की छिट पुट घटनाओं को अंजाम दिया. कानून प्रवर्तन अधिकारी ऐसे सभी मामलों में बिना किसी देरी के कड़ी और उचित कार्रवाई करते हैं.’’

पत्र में कहा गया है कि उत्तर 24 परगना जिले के नाजट पुलिस थाना क्षेत्र के तहत हुई इस ताजा घटना में भी मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी गई है. वह भी इस परिस्थिति में जब क्षेत्र में शांति बनाए रखने के लिए पुलिस बल सड़कों पर और आस-पास के क्षेत्रों में व्यस्त हैं.

गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से कानून व्यवस्था और शांति बनाये रखने को कहा

पत्र में कहा गया कि स्थिति नियंत्रण में है और किसी भी परिस्थिति में इसे राज्य में कानून का शासन बनाए रखने में कानून लागू करने वाले तंत्र की नाकामी नहीं समझा जाना चाहिए.’’  इससे पहले, दिन में केन्द्र ने राज्य सरकार को परामर्श जारी किया था. पश्चिम बंगाल सरकार को दिये परामर्श में गृह मंत्रालय ने उससे कानून व्यवस्था और शांति बनाये रखने को कहा.

टीएमसी ने परामर्श को राज्य सरकार के खिलाफ षडयंत्र बताया

परामर्श में कहा गया है, ‘‘पिछले कुछ हफ्तों से राज्य में बगैर उकसावे के हो रही हिंसा राज्य में कानून व्यवस्था बनाये रखने और जनता में विश्वास कायम करने में राज्य के कानून प्रवर्तन तंत्र की नाकामी प्रतीत होती है.’’  तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने केन्द्र द्वारा राज्य सरकार को परामर्श भेजे जाने को राज्य सरकार के खिलाफ षडयंत्र बताया. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल देश का सर्वाधिक शांतिप्रिय राज्य है और यहां राजनीतिक खून खराबे की कोई घटना नहीं हुई है. उत्तर प्रदेश को इस तरह का परामर्श क्यों नहीं भेजा जा रहा है जबकि वहां से हिंसा की घटनाएं होने की सूचना मिल रही हैं.


hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap