हथियार छोड़ो, आओ लंच करते हैं – आतंकियों से बोले जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल

आतंकियों से बोले जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल- हथियार छोड़ो, आओ लंच करते हैं राज्यपाल ने कहा कि मैं हुर्रियत नेताओं का सम्मान करता हूं लेकिन उनका मकसद गलत है. दिल्ली ने भी गलतियां की लेकिन स्थानीय नेतृत्व लोगों को धोखा देने के लिए अधिक दोषी है.

Image result for Jammu Kashmir rajya Pal malik
जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक 

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आतंकियों से हथियार छोड़ने की अपील की. राज्यपाल ने कहा कि आप हथियार छोड़िए और आइए मेरे आवास पर साथ में बैठकर लंच करते हैं. उन्होंने कहा कि मैं हुर्रियत नेताओं का सम्मान करता हूं, लेकिन उनका मकसद गलत है. दिल्ली ने भी गलतियां की, लेकिन स्थानीय नेतृत्व लोगों को धोखा देने के लिए अधिक दोषी है.

अभी हाल में राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दिल्ली में नए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की और उन्हें राज्य की मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी दी. अपने नॉर्थ ब्लॉक कार्यालय में लगभग आधे घंटे की बैठक में शाह ने जम्मू-कश्मीर के हालात जाने. मलिक ने बैठक के बाद मीडिया से कहा, “मैंने उन्हें (अमित शाह) जम्मू-कश्मीर की प्रमुख समस्याओं और विकास कार्यों के बारे में अवगत कराया लेकिन हमने ज्यादातर बात हाल में हुए लोकसभा चुनावों के बारे में की.” मलिक ने कहा, “जम्मू और कश्मीर में स्थिति बदल गई है.”

केंद्र सरकार के साथ राज्यपाल सत्यपाल मलिक का पूरा ध्यान जम्मू कश्मीर में आतंकी घटनाओं को रोकने पर है ताकि प्रदेश में अमन चैन बहाल हो सके. इसके लिए आतंकियों को मुख्यधारा में लाने की कोशिश जारी है. सरकार का मानना है कि आतंकी गतिविधियों में शामिल लोग हिंसा का रास्ता छोड़ मुख्यधारा में शामिल हों तो घाटी में शांति कायम की जा सकती है. हालांकि आतंकी इस अपील पर ध्यान देते नहीं दिखते और हिंसा पर उतारू हैं. सुरक्षा बल भी इसका करारा जवाब दे रहे हैं. हर दिन कोई न कोई मुठभेड़ होती है जिसमें आतंकियों का सफाया हो रहा है.

अनंतनाग जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में  जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) का एक आतंकवादी मारा गया. पुलिस मारे गए आतंकवादी की पहचान अनंतनाग के डोरू इलाके के इकबाल अहमद के रूप में हुई. वेरीनाग क्षेत्र के नौगाम गांव में आतंकियों की ओर से सुरक्षाबलों पर गोलीबारी करने के बाद मुठभेड़ शुरू हो गई जो इलाके का घेराव कर रहे थे और तलाशी अभियान चला रहे थे.