तमिलनाडु मॉड्यूल के मास्टरमाइंड मोहम्मद अजरुदीन को बुधवार को NIA ने किया गिरफ्तार

तमिलनाडु के कोयंबटूर में एनआईए की छापेमारी के दौरान 14 मोबाइल फोन, 29 सिमकार्ड, 10 पेन ड्राइव, तीन लैपटॉप, छह मेमोरी कार्ड, चार हार्डडिस्क समेत कई इलेक्ट्रॉनिक्स के सामान बरामद किए गए.

 NIA arrested ISIS mastermind of TN module in raid

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने कोयंबटूर में सात जगहों पर छापेमारी के बाद आईएसआईएस तमिलनाडु मॉड्यूल के कथित मास्टरमाइंड मोहम्मद अजरुदीन को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया. अजरुदीन और श्रीलंका में आत्मघाती हमला करने वाला जहरान हाशिम फेसबुक फ्रेंड्स थे.

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने एक बयान में बताया कि तमिलनाडु के कोयंबटूर में छापेमारी के दौरान एजेंसी ने 14 मोबाइल फोन, 29 सिमकार्ड, 10 पेन ड्राइव, तीन लैपटॉप, छह मेमोरी कार्ड, चार हार्डडिस्क, एक इंटरनेट डोंगल, 13 सीडी/डीवीडी, एक कटार, एक इलेक्ट्रिक लाठी, एयरगन के 300 छर्रे और भारी मात्रा में आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त किए हैं.

बयान के मुताबिक, आरोपी के मकान और कार्यस्थलों से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के कुछ पर्चे भी एजेंसी ने जब्त किए हैं. एजेंसी इन दोनों संगठनों पर नजर रखे हुए है.

उसमें कहा गया है कि बरामद सामग्री के आधार पर एजेंसी ने आरोपी से पूछताछ शुरू कर दी है.

इस साल 30 मई को कोयंबटूर निवासी 32 वर्षीय अजरुदीन नीत कथित मॉड्यूल और शहर के पांच अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था.

एनआईए ने कहा कि एजेंसी को सूचना मिली थी कि सभी आरोपी और उनके सहयोगी प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन आईएसआईएएस की विचारधारा का सोशल मीडिया पर कथित रूप से प्रचार कर रहे हैं. इनका लक्ष्य दक्षिण भारत, खास तौर से केरल और तमिलनाडु में आतंकवादी हमले करने के लिए संवेदनशील युवकों को अपने साथ जोड़ना था.

एजेंसी ने आरोप लगाया कि अजरुदीन मॉड्यूल का नेता था. वह ‘खिलाफजीएफएक्स’ नामक फेसबुक पेज चलाता था और उसी के जरिए प्रतिबंधित संगठन की विचाराधारा का प्रचार करता था.

कोयंबटूर से मिली खबर के अनुसार एनआईए ने अजरुदीन सहित कुल छह लोगों को हिरासत में लिया है.

एनआईए ने 30 मई को मोहम्मद अजरुदीन के अलावा अकरम सिंधा, वाई. शेक हिदायतुल्ला, अबुबकर एम., सदाम हुसैन ए. और इब्राहिम उर्फ शाहिन शाह के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

गौरतलब है कि श्रीलंका में ईस्टर संडे पर 21 अप्रैल को हुए आत्मघाती आतंकवादी हमलों की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली है. हमले में 258 लोग मारे गए थे और करीब 500 घायल हुए थे.