भूपेंद्र यादव – सदस्यता अभियान समाप्त होने के बाद संगठनात्मक चुनाव से होगा पार्टी अध्यक्ष का फैसला

भूपेंद्र यादव ने बताया कि अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में बीजेपी की बैठक हुई और पार्टी को नई ऊंचाई पर ले जाने की रणनीति तय हुई.

Related image

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में गुरुवार (13 जून) को प्रदेश प्रमुखों समेत पार्टी सीनियर नेताओं की बैठक हुई. इस बैठक में बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव भी शामिल थे. बैठक के बाद जब उनसे अगले पार्टी अध्यक्ष को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ‘सदस्यता अभियान समाप्त होने के बाद संगठनात्मक चुनाव आयोजित किए जाएंगे.’

भूपेंद्र यादव ने आगे कहा, ”नए सदस्य बनाने का अभियान हम शुरू करने जा रहे हैं और इसके लिए पार्टी ने श्री शिवराज चौहान को सदस्यता अभियान का संयोजक नियुक्त किया है उनके साथ श्री दुष्यंत गौतम, श्री सुरेश पुजारी, श्री अरुण चतुर्वेदी और श्रीमती शोभा सुरेंद्रन सहसंयोजक की भूमिका में होंगे.” भूपेंद्र यादव ने कहा, ”2014 के बाद बीजेपी के सदस्यों की संख्या 11 करोड़ हुई और उनमें से 10 लाख से अधिक सदस्यों को विधिवत प्रशिक्षण भी दिया गया.”

बता दें कि अमित शाह की अध्यक्षता वाली बैठक में पूर्व मुख्यमंत्रियों में शिवराज सिंह चौहान, रमन सिंह और वसुंधरा राजे, महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, भूपेन्द्र यादव और जेपी नड्डा के साथ-साथ बीजेपी के प्रदेश इकाई प्रमुख भी मौजूद थे.

आपको बता दें कि बीजेपी के मौजूदा अध्यक्ष अमित शाह के मोदी सरकार में मंत्री बनाए जाने के बाद ये सवाल उठ रहे हैं कि आखिर बीजेपी में पार्टी अध्यक्ष का पद किस नेता के सिर सजेगा. हालांकि, अब तक तस्वीर साफ नहीं है, लेकिन जिन नामों को लेकर कयास तेज हैं उनमें पूर्व केंद्रीय जेपी नड्डा का नाम सबसे आगे है. इसकी वजह ये है कि नड्डा को मोदी सरकार-2 में जगह नहीं मिली है. माना जाता है कि उन्हें पार्टी अध्यक्ष की कुर्सी देने की वजह से कैबिनेट में जगह नहीं दी गई है. दूसरे नामों में भूपेंद्र यादव का नाम भी रेस में है.