ममता का BJP पर वॉर – बंगाल को नहीं बनने देंगे गुजरात, यहां बंगाली बोलना जरूरी

ममता बनर्जी ने कहा कि हमें बांग्ला भाषा को आगे बढ़ाना होगा. जब मैं बिहार, यूपी या पंजाब जाती हूं तो उनकी भाषा में बोलने की कोशिश करती हूं.

Image result for West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक लड़ाई अभी भी जारी है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) राज्य में अपना विस्तार करने में लगी है तो वहीं ममता बनर्जी भी हमलावर हैं. शुक्रवार को नॉर्थ 24 परगना में ममता बनर्जी ने एक जनसभा को संबोधित किया और कहा कि वह बंगाल को गुजरात नहीं बनने देंगी.

ममता बनर्जी ने कहा कि हमें बांग्ला भाषा को आगे बढ़ाना होगा. जब मैं बिहार, यूपी या पंजाब जाती हूं तो उनकी भाषा में बोलने की कोशिश करती हूं. उन्होंने कहा कि अगर आप बंगाल में आए हैं, तो आपको बंगाली ही बोलनी होगी. बंगाल की सीएम ने दो टूक कहा कि वह बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगी कि बंगाल में गुंडे यूं ही बाइकों पर घूमते रहे.

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस में लोकसभा चुनाव के दौरान से ही विवाद चल रहा है. पहले मतदान के दौरान हिंसा हुई और जब नतीजों में बीजेपी ने 18 सीटें अपने नाम कर लीं तो चुनाव के बाद हिंसा और भी बढ़ गई. दोनों ही पार्टियों की नजर 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव पर हैं, TMC को डर है कि भाजपा विधानसभा चुनाव में भी अपना आधार बढ़ा सकती है.

बीजेपी भी लगातार एक्शन में है, पार्टी अब नए तरीके से सदस्यता अभियान चला रही है. इस अभियान में बंगाल पर फोकस किया जा रहा है. इस बीच बीजेपी के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने भी ट्वीट कर ममता बनर्जी पर निशाना साधा है. बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल के मुद्दे पर कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया कि ममता दीदी, आप ही राज्य की स्वास्थ्य मंत्री हैं, ऐसे में आपके राज में मरीज परेशान हो रहे हैं.

आपको बता दें कि बंगाल में इस समय डॉक्टरों की हड़ताल चल रही है, जिसकी वजह से राज्य में विवाद जारी है. यहां एक जूनियर डॉक्टर के साथ कुछ मरीजों ने बदतमीजी की थी, जिसके बाद से ही राज्य में डॉक्टर हड़ताल पर हैं. वहीं,  ममता बनर्जी ने इस हड़ताल के पीछे भारतीय जनता पार्टी को जिम्मेदार बताया था. तो वहीं डॉक्टरों को तुरंत काम पर वापस पहुंचने को कहा था.

बंगाल में डॉक्टरों की चल रही हड़ताल ने पूरे देश में माहौल बनाया और कई राज्यों के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए. दिल्ली, मुंबई, यूपी, मध्य प्रदेश में डॉक्टरों ने आज काम करने से इनकार कर दिया. बंगाल में ममता सरकार से नाराज चल रहे करीब 27 से अधिक डॉक्टरों ने इस्तीफा दे दिया.

इस बीच डॉक्टर हड़ताल मामले में कलकत्ता हाईकोर्ट ने भी ममता सरकार को फटकार लगाई है. हाईकोर्ट की तरफ से ममता सरकार को आदेश दिया गया है कि वह तुरंत नाराज डॉक्टरों से बात करें और ये भी बताएं कि अभी तक डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाए गए हैं.


 
hi_INHindi
hi_INHindi