कोलकाता: ‘जय श्रीराम’ का नारा नहीं लगाने पर दिया चलती ट्रेन से धक्का, ममता ने किया मुआवजे का एलान

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में सोमवार को एक मदरसा शिक्षक सहित तीन लोगों को कथित तौर पर ‘जय श्रीराम’ का नारा नहीं लगाए जाने के बाद ट्रेन से धक्का दे दिया गया. इसके बाद अब राज्य की सीएम ममता बनर्जी ने घटना में घायल तीनों व्यक्तियों को मुआवजा देने का एलान किया है.

Image result for mamta banerjee

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में ट्रेन से धकेल दिए जाने पर घायल हुए तीन लोगों को मुआवजा देने की घोषणा की है. बता दें कि चलती ट्रेन से  एक मदरसा शिक्षक और दो अन्य व्यक्ति को धक्का देने की घटना कोलकाता में सोमवार को घटी. इन्हें कथित तौर पर ‘जय श्रीराम’ का नारा नहीं लगाए जाने के बाद ट्रेन से धक्का दिया गया था.

 50-50 हजार रुपये का मिलेगा मुआवजा 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘मैंने पीड़ितों से बात की है और तीनों के लिए 50-50 हजार रुपये के मुआवजे की घोषणा की है. हमलोग ऐसी घटनाओं की निंदा करते हैं और मामले में पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी. हम राज्य में ऐसी चीजें नहीं होने देंगे.’’ घटना में मामूली रूप से जख्मी हुए हाफिज मोहम्मद शाहरुख हलदर ने कहा, ‘‘कुछ लोगों के समूह ने मुझ पर और दो अन्य पर हमला किया. हमलोगों को पीटा गया और फिर हम सभी को पार्क सर्कस रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से बाहर फेंक दिया गया.’’

भाटपाड़ा राजनीतिक हिंसा के पीड़ितों के लिये भी मुआवजा

सीएम ममता बनर्जी ने भाटपाड़ा राजनीतिक हिंसा के पीड़ितों के लिये भी मुआवजे की घोषणा की है. इसके साथ ही उन्होंने बुधवार को कहा कि राज्य में अपराधियों के सफाये के लिए मुठभेड़ के ‘उत्तर प्रदेश मॉडल’ का समर्थन करने वाले बीजेपी नेताओं के खिलाफ पुलिस को संज्ञान लेना चाहिए. ममता बनर्जी ने समूचे भारत में लिचिंग की घटनाओं की निंदा करते हुए कहा कि यह देश हर नागरिक का है भले ही उसकी जाति, नस्ल और धर्म कुछ भी हो.

ममता बनर्जी ने क्या कहा

सीएम ममता बनर्जी ने विधानसभा में कहा, ‘‘कुछ बीजेपी नेता पश्चिम बंगाल में मुठभेड़ कराने की धमकी दे रहे हैं. मुझे नहीं पता पुलिस ने उनके खिलाफ मामला क्यों दर्ज नहीं किया और कार्रवाई क्यों नहीं की. पुलिस को इसका संज्ञान लेना चाहिए.’’

सत्ता में आने पर यूपी मॉडल को फॉलो करने की बात बीजेपी नेता ने कही थी

बता दें कि प्रदेश बीजेपी के दो बड़े नेताओं ने सोमवार को कहा था कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो मुठभेड़ में अपराधियों के सफाये के लिए पुलिस को खुली छूट देने के लिए उत्तर प्रदेश मॉडल का अनुसरण करेगी. इसी के मद्देजरन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यह टिप्पणी की है. देश में लिचिंग की घटनाओं का हवाला देते हुए बनर्जी ने कहा, ‘‘झारखंड में जो हुआ है उसकी मैं कड़ी निंदा करती हूं. देश में लोग डर के रह रहे हैं. उन्हें मारा जा रहा है.’’ ममता बनर्जी ने बीजेपी पर देश में सांप्रदायिक विभाजन को बढ़ावा देने का आरोप लगाया.

 
hi_INHindi
hi_INHindi