हनीमून के दौरान ज्वाला मुखी में गिरा पति, तो ऐसे बचाई पत्नी ने जान,दिया नया जीवनदान।


कहते हैं पति-पत्नी का रिश्ता सबसे प्यारा होता है, दोनों एक दूसरे के साथ सात जन्मों तक की कसम खाते हैं और दोनों हर हाल में एक-दूसरे का साथ देते हैं.

ऐसा ही कुछ हुआ फ्लोरिडा के रहने वाले एक दंपति के साथ. जो हनीमून मनाने कैरेबियाई सागर के माउंट लियमाइगा पर्वत के सेंट किट्स की चोटी पर गए थे. जहां पति के साथ एक खतरनाक हादसा हो गया, लेकिन पत्नी ने अपने पति की जान बचा ली.

I know a lot of you have already heard and any prayers you have made or will make would be greatly appreciated. While on…

Posted by Clay Chastain on Friday, 19 July 2019

क्ले चेस्टैन और एकैमी की शादी इसी महीने 13 तारीख को हुई थी. शादी के दूसरे दिन ही वो हनीमून के लिए चले गए. लेकिन 18 जुलाई को हनीमून के दौरान पति क्ले चेस्टैन सुप्त ज्वालामुखी में 50 फीट नीचे गिर गया. ये जगह बिल्कुल सूनसान थी. जहां कोई नहीं था. लेकिन एकैमी ने हिम्मत नहीं हारी पहले तो मदद के लिए आवाज लगाई कि कहीं कोई आसपास हो. लेकिन अंत में एकैमी ने तय किया कि वह अपने पति को मौत के मुंह से बाहर निकालेंगी. एकैमी ने किसी तरह क्ले को बाहर निकाला और करीब सवा तीन किलोमीटर दूर बैस कैंप पर ले पहुंची.

बता दें कि इस दौरान दोनों ने 3700 मीटर की चढ़ाई चढ़ी थी. लेकिन ज्वालामुखी के पास पहुंचकर क्ले का संतुलन बिगड़ गया और वह नीचे जा गिरे. क्ले के सिर और शरीर के कई हिस्सों में गहरी चोट आई थी. बेस कैंप से वह पति को लेकर फोर्ट लॉडरडेल पहुंचीं और वहां से 20 लाख रुपए में मेडिकल चार्टर्ड प्लेन बुक कर फ्लोरिडा ले पहुंचीं. जहां चेस्टैन को इलाज के लिए भर्ती कराया गया. अब वह खतरे से बाहर हैं.
लेकिन लोग एकैमी की जमकर तारीख कर रहे हैं. एक महिला ने अपने पति को बचाने के लिए कितना साहस दिखाया. चेस्टैन बताते हैं कि, ‘‘हम पहाड़ पर थे. इसी दौरान ज्वालामुखी के क्रेटर की गहराई में मौजूद हरियाली ने मुझे बहुत लुभाया. हालांकि, मुझे गहराई से डर लगता था. फिर भी मैं खुद को रोक नहीं सका और नीचे उतरता चला गया. खड़ी ढलान होने से मैं फिसला और किसी हिमखंड की तरह लुढ़कता हुआ चट्‌टान से जा टकराया.’’

एकैमी बताती हैं कि, ‘‘सिर में चोट लगने पर क्ले जोर से मदद को चिल्लाए, लेकिन वहां कोई नहीं था. न ही कोई मोबाइल सेवा थी. ऐसे में मुझे ही क्ले को सहारा देकर बेस तक ले जाना था. हम तीन घंटे में बेस तक पहुंचे थे.’’ वहीं डॉक्टर्स बताते हैं कि, ‘‘चेस्टैन को सिर, नाक और गर्दन में चोंट लगी है. खोपड़ी में चोट लगने की वजह से उनका काफी खून बह गया है, लेकिन उनकी कोई हड्डी नहीं टूटी और वह जल्द ठीक हो जाएंगे.’’

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap