सुषमा स्वराज के निधन पर पीएम मोदी ने जताया शोक, कहा- राजनीति के एक अध्याय का हुआ अंत.

बीजेपी की सबसे लोकप्रिय नेताओं में से एक और मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेश मंत्री रही सुषमा स्वराज का 67 वर्ष की उम्र में दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया है.

दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें रात 10:15 बजे एम्स के इमरजेंसी विभाग में भर्ती कराया गया था जहां डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनका इलाज कर रही थी, लेकनि उनके नहीं बचाया जा सका.

देश के राष्ट्रपति राम नाथकोविंद ने सुषमा स्वराज के निधन पर कहा कि,’श्रीमती सुषमा स्वराज के निधन से बहुत दुःख हुआ है. देश ने अपनी एक अत्यंत प्रिय बेटी खोई है. सुषमा जी सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा की प्रतिमूर्ति थीं. लोगों की सहायता के लिए वे हमेशा तत्पर रहती थीं. उनकी सेवाओं के लिए सभी भारतीय उन्हें सदैव याद रखेंगे.’

देश के उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू पूर्व केंद्रीय मंत्री,वरिष्ठ नेता, प्रखर सांसद श्रीमती सुषमा स्वराज जी के असामयिक निधन से स्तब्ध हूं.देश ने आज एक ओजस्वी नेता और मैने एक निकट सहयोगी खो दिया ह.नि: शब्द हूं. ईश्वर पुण्य गतात्मा को आशीर्वाद दें.

वहीं सुषमा स्वराज के निधन पर प्रधानमंत्री ने लगातार एक के बाद एक पांच ट्विट किए. पीएम मोदी ने सुषमा स्वराज के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि राजनीति के एक अध्याय का अंत हुआ है. सुषमा स्वराज जी अपनी तरह की अलग महिला थीं, जो करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत थीं.

एक अन्य ट्विट में प्रधानमंत्री ने लिखा कि, मैं यह नहीं भूल सकता कि किस तरह से सुषमा स्वराज ने बीते पांच वर्षों के बिना रूके बिना थके लगातार विदेश मंत्री रहते लोगों के लिए काम किया वो भी तब जब उनका स्वास्थय खराब था.उनके काम के प्रति उनके जुनून का कोई सानी नहीं है.

वहीं अन्य ट्विट में उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज ने जो भी मंत्रायल संभाला उन्होंने सबमें अच्छा करके दिखाया. उन्होंने दूसरे देशों के साथ भारत के रिश्ते बेहतर करने में बड़ा योगदान दिया.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap