मुंबई में पेड़ काटने पर मचा बवाल, इलाके में लगाई गई धारा 144


आरे कॉलोनी में बॉम्बे हाईकोट ने जंगल घोषित करने वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया है। इस बात को लेकर लोग जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

मुंबई की आरे कॉलोनी में बॉम्बे हाईकोट ने जंगल घोषित करने वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया है। याचिकाओं को खारिज करने के बाद आरे कॉलोनी में पेड़ काटने का काम शुरु कर दिया गया। जिस बात को लेकर काफी लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। इस बीच पुलिस ने भी सख्ती बर्ती उन्होंने आरे की तरफ से आने वाली सभी सड़कों पर बैरिकेड लगा दिए हैं।

पेड़ काटने के बाद आरे कॉलोनी में लोगों ने कोहराम मचा दिया है। पेड़ कटने की खबर सुन हर कोई हैरान है। जब आरे कॉलोनी में ये हंगामा नहीं रुका तो पुलिस ने काफी लोगों को हिरासत में भी ले लिया। पुलिस ने इलाके में धारा 144 लगा दी है।

पेड़ काटने के सोशल मीडिया पर कई वीडिया वायरल हो रहे हैं। वीडियो को देख काफी लोग ट्वीट कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने मेट्रो रेल साइट पर जमकर हंगामा किया। कॉलोनी की तीन किलोमीटर तक के इलाके में किसी को भी जाने की परमिशन नहीं दी जा रही। इतना ही नहीं मीडिया के लोगों को भी जाने की इजाजत नहीं है। हंगामे के बीच अब तक 800 से ज्यादा पेड़ काटे जा चुक हैं।

विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं लोगों में अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बॉम्बे कोर्ट ने 2700 पेड़ों को काटने के आदेश दिए हैं। शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने भी ट्वीट कर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने ट्वीट कर केंद्र सरकार और राज्य की बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर इस तरह से जंगल में पेड़ काटे जा रहे हैं तो प्लास्टिक प्रदूषण पर बोलने का कोई फायदा नहीं हैं।

बता दें, आरे कॉलोनी में 2700 से ज्यादा पेड़ काटकर मेट्रो कार शेड बनाए जाने के खिलाफ लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। विरोध प्रदर्शनकारियों का कहना है कि एमएमआरसीएल ये पेड़ तभी काट सकता है जब परमिशन को म्यूनिसिपल कारपोरेशन के वेबसाइट पर अपलोड होने के 15 दिन बीत चुके हो।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap