भारत को मिला पहला राफेल विमान, रक्षा मंत्री ने उड़ान को बताया बेहद शानदार

भारत को कल यानि मंगलवार को पहला राफेल विमान मिल गया है। शस्त्र पूजा के बाद राजनाथ सिंह ने राफेल विमान में उड़ान भरी।

नई दिल्लीः भारत को फ्रांस से पहला राफेल विमान मिल गया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पहले दसॉल्ट कंपनी से राफेल विमान को रिसीव किया। शस्त्र पूजा के बाद राजनाथ सिंह ने राफेल विमान में उड़ान भरी। पहले राफेल विमान मिल जाने के बाद भारत की शक्तियों और भी मजबूत हो गई है। राफेल में राजनाथ सिंह ने 25 मिनट की उड़ान भरी।

उसके बाद उन्होंने कहा कि राफेल भारत ने देश को धमकाने के लिए नहीं खरीदा है। राफेल आक्रामकता नहीं, बल्कि आत्मरक्षा का हिस्सा है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि 36 लड़ाकू विमानों में से 18 विमान फरवरी 2021 तक सौंप दिए जाएंगे। जबकि बाकी बचे हुए राफेल अप्रैल-मई 2022 तक सौंपे जाने की उम्मीद है।

हालांकि भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने में राफेल विमान को लंबा समय लगेगा, क्योंकि भारतीय वायुसेना के जवानों को अभी ट्रेनिंग दी जाएगी। भारत-फ्रांस के बीच हुई इस डील की कीमत लगभग 59 हजार करोड़ रुपये बताई जा रही है। बता दें, राफेल विमान को रिसीव करने के बाज राजनाथ सिंह ने शस्त्र पूजा की थी उन्होनें उसके ऊपर रोली से ऊं बनाया उसके बाद राफेल की पहिए के नीचे नींब रखा उसके बाद उन्होंने राफेल विमान में उड़ान भरी।

राजनाथ सिंह ने इस उड़ान को काफी कंफर्टेबल और आसान बताया है। उन्होंने कहा कि यह विमान भारतीय सेना की लड़ाकू क्षमता को बहुत ज्यादा बढ़ाएगा।

Image result for राजनाथ सिंह ने राफेल विमान में भरी उड़ान

उन्होंने राफेल में अपनी उड़ान को यादगार और जीवन में कभी न भूलने वाल लम्हा बताया है। राफेल मिलने के बाद भारतीय वायुसेना की ताकत और बढ़ जाएगी। यह कदम देश की सुरक्षा के लिए उठाया गया है। भारत को जो राफेल विमान मिला है उसका टेल नंबर RB001 है। भारत को मिलने वाले 36 राफेल विमान से 18 अंबाला एयरबेस और 18 अरुणाचल प्रदेश के आसपास तैनात होंगे।

राफेल विमान के जरिए भारत चीन और पाकिस्तान की तरफ से होने वाले हमलों का डटकर सामना कर सकेंगा। इस विमान में 24500 किलो वजन उठाने की क्षमता है। साथ ही इस विमान के जरिए एक साथ 125 राउंड गोलियां निकलती है जो किसी को भी चीर कर रख सकती है।

 
hi_INHindi
hi_INHindi