स्कूल में वंदना की जगह करवाई मदरसे वाली प्रार्थना, जिलाधिकारी ने टीचर को किया निलंबित


एक सरकारी स्कूल में प्रधानाध्यापक बच्चों से सरस्वती वंदना की जगह मदरसे की प्रार्थना करवाता है।

पीलीभीतः किसी भी स्कूल में बच्चों को दूसरे धर्म के खिलाफ उकसाना कानूनी अपराध है। लेकिन उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक सरकारी स्कूल में प्रधानाध्यापक बच्चों से सरस्वती वंदना की जगह मदरसे की प्रार्थना करवाता है।

इस अध्यापक का नाम फुरकान अली है। इस प्रधानाध्यापक के खिलाफ विश्व हिंदू परिषद और दूसरे हिन्दू संगठनों ने कड़ा विरोध जताया है और इसकी शिकायत जिलाधिकारी से करके कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

हिंदू परिषद और हिन्दू संगठनों ने आरोप लगाया है कि बीसलपुर स्थित बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूल में धर्म विशेष की प्रार्थना कराई जा रही है इस बार पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। इस बात की शिकायत जब जिलाधिकारी से की गई तो प्रधानाध्यापक फुरकान अली ने खंड शिक्षा अधिकारी को कोई आपत्ति न होने की बात कहकर इसे टाल दिया।

यूपी के सरकारी स्कूल में करवाई मदरसे वाली प्रार्थना, हेडमास्टर निलंबित

शिकायत के आधार पर जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने आरोपी टीचर के खिलाफ जांच करने के आदेश जारी कर दिए है और तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

वहीं जब टीचर को निलंबित किया गया तो उसने कहा कि स्कूल में सरस्वती वंदना भी करवाई जाती है लेकिन स्कूल में मुसलमान बच्चों की संख्या ज्यादा है इसलिए उनके अनुरोध पर स्कूल में मदरसा वाली प्रार्थना भी करवाई जाती है। इतना ही नहीं प्रधानाध्यापक ने ये भी कहा कि स्कूल में मुसलमान बच्चों की संख्या 90 फीसदी से ज्यादा है। इसलिए स्कूल में इस्लाम वाली प्रार्थना भी करवाई जाती है।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap