दिल्ली के इस इलाके में चल रही हैं सबसे ज्यादा जहरीली हवा, NCR में भी लागू हुआ ये नियम


पराली से निकते धुएं की वजह से दिल्ली-एनसीआर में लोगों का दम घुटने लगा है। यहां लोगों को सांस लेने में भी दिक्कत हो रही है।

नई दिल्लीः दिल्ली में बढ़ता प्रदूषण लोगों की जान ले रहा है। दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स लगातार बढ़ता जा रहा है। पराली से निकते धुएं की वजह से दिल्ली-एनसीआर में लोगों का दम घुटने लगा है। यहां लोगों को सांस लेने में भी दिक्कत हो रही है। इतना ही नहीं सबसे ज्यादा दिक्कत यहां उन लोगों को हो रही है जिन लोगों को पहले से ही सांस की बीमारी है।

यहां पराली के जहरीले धुंए की वजह से सफेद चादर बिछी हुई है। जहरीला धुआं लोगों की आंखों पर भी असर डाल रहा है। इस खबर में हम आपको बताएंगे दिल्ली के कौन से ऐसे इलाके है जिनमें सबसे ज्यादा प्रदूषण फैल रहा है।

दिल्ली के करीब डेढ़ दर्जन इलाके ऐसे हैं जो प्रदूषण के स्तर को पार कर चुके हैं। सबसे ज्यादा प्रदूषण राजधानी दिल्ली के द्वारका इलाके में है। 1 अक्टूबर से लेकर 15 अक्टूबर तक दिल्ली में प्रदूषण का स्तर खतरे के निशान से ऊपर है। 15 अक्टूबर को दिल्ली के द्वारका में प्रदूषण का स्तर 480 के अंक पर पहुंच गया जो सबसे खतरनाक है। ऐसे में आने वाले 15 दिनों में क्या होगा ये तो कोई नहीं जानता।

Image result for delhi ncr pollution

दूसरे नंबर पर डीटीयू वहां प्रदूषण का स्तर 394 अंक पर है। तीसरे नंबर पर सिरी फोर्ट वहां प्रदूषण का स्तर 387 पर है। सबसे कम प्रदूषण गुरुग्राम में दर्ज किया गया। दिल्ली के द्वारका, नजफगढ़, गुरुग्राम, आरके पुरम, तुगलकाबाद, आया नगर, नोएडा, गाजियाबाद, आईटीओ, बवाना, डीटीयू, नरेला, सिरी फोर्ट, आईएचबीएस और वजीरपुर में प्रदूषण के स्तर पर ज्यादा नजर रखी जाती है।

प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने कुछ नियम भी बनाए है। मंगलवार को ग्रेडेड रेस्पॉन्स ऐक्शन प्लान लागू किया गया है। अब तक सिर्फ दिल्ली में जेनरेटर चलाने पर रोक थी लेकिन अब दिल्ली-एनसीआर में भी जेनरेटर चलाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। नोएडा, गुरुग्राम, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद, और गाजियाबाद में कहीं भी डीजल का जेनरेटर नहीं चलाया जाएगा। ये नियम पहले दिल्ली में ही था लेकिन अब पूरे एनसीआर में ये नियम लागू हो गया है।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap