करवाचौथ के दिन इतने बजे करें पूजा, जानें चंद्रोदय का सही समय


करवाचौथ के दिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं। इस दिन वो भूखी रहकर अपने पति के लिए निर्जला व्रत रखती हैं।

आज पूरे देश में करवाचौथ का त्यौहार मनाया जा रहा है। करवाचौथ के दिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं। इस दिन वो भूखी रहकर अपने पति के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। इस बार का करवा चौथ व्रत बहुत खास होने वाला है, क्योंकि 70 साल बाद इस बार करवा चौथ पर शुभ संयोग बन रहा है।

करवा चौथ पर 70 साल बाद रोहिणी नक्षत्र और मंगल का विशेष योग बन रहा है। यह संयोग करवा चौथ के पूजन को अधिक मंगलकारी बना रहा है। इसमें पूजन का फल हजारों गुना अधिक रहेगा। शास्त्रों के अनुसार, रोहिणी नक्षत्र का होना अपने आप में अद्भुत संयोग है।

Image result for karvachauth

ये व्रत सूर्योदय से पहले शुरु होता है जिसे चांद निकलने तक रखा जाता है। रात को महिलाएं कथा सुनकर चांद को जल देखकर व्रत खोलती है। इस लेख में जानें कितनी बजे निकलेगा चांद।

जानें पूजा का शुभ मुहूर्त-
करवाचौथ के दिन शाम 5 बजकर 46 मिनट से शाम 7 बजकर 2 मिनट तक आप पूजा कर सकते हैं।

Image result for karvachauth

इस बार करवाचौथ का चांद रात में 8 बजकर 15 मिनट पर निकलेगा। ये व्रत सारी उपवासों में सबसे कठिन माना जाता है। इस व्रत में महिलाएं पूरा दिन पानी भी नहीं पीती। माना जाता है इश दिन जो भी सुहागन महिला सुबह उठकर सौलह श्रृंगार करती है और व्रत रखती है उसका जीवन खुशियों से भर जाता है।

व्रत के दौरान महिलाएं जलपान नहीं करती बस वो शाम को ही व्रत खोलकर खाना खाती हैं। व्रत के दौरान कथा जरूर सुननी चाहिए। कहा जाता है कथा के बिना व्रत अधूरा माना जाता है।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap