कमलेश तिवारी हत्या केसः पकड़े गए मुख्य दो आरोपी, गुजरात राजस्थान बॉर्डर से किया गिरफ्तार


लखनऊः हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं। एटीएस को इस केस में एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बता दें, बीते दिन दोनों मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों की पहचान अशफाक और मोईनुद्दीन हैं। इन दोनों को गुजरात एटीएस ने गुजरात राजस्थान बॉर्डर पर श्यामलाजी के पास से गिरफ्तार किया है।

बताया जा रहा है, ये दोनों कमलेश तिवारी से मिलने के लिए अपना असली नाम बदलकर पहुंचे थे। कमलेश तिवारी से मिलने के लिए अशफाक ने अपना नाम रोहित तो वहीं मोइनुद्दीन ने संजय बताया था। पुलिस की पूछताछ के बाद इन दोनों ने अपना अपराध कबूल कर लिया है।

इतना ही नहीं दोनों आरोपियों ने कमलेश तिवारी की हत्या का कारण भी बताया है दोनों ने कहा कि मुहम्मद पैगम्बर को लेकर दिए गए बयान के बाद इनकी हत्या की साजिद रची गई। इन दोनों की गिरफ्तारी से पहले एसटीएफ ने इस केस में एक इनोवा कर जब्त भी की थी।

Image result for kamlesh

कमलेश के हत्यारों ने लखीमपुर में पलिया से शाहजहांपुर तक जाने के लिए इसे बुक किया था। एसटीएफ ने कार के ड्राइवर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। कार को उसके मालिक के एक रिश्तेदार ने गुजरात से 5000 रुपए में बुक किया था। हत्यारे इस कार से लखीमपुर से शाहजहांपुर गए थे। इन दोनों को सीसीटीवी कैमरे में भी जाते हुए देखा गया है।

आरोपी कमलेश तिवारी की हत्या करने के लिए मिठाई के डिब्बे में चाकू छुपाकर लेकर आए थे। हत्या कर आरोपी घटनास्थल से फरार हो गए थे। कमलेश तिवारी की हत्या 18 अक्टूबर को की गई थी। पुलिस ने दोनों कातिलों को पुलिस तक पहुंचाने के लिए ढ़ाई लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया था।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap