फैसले से पहले अयोध्या में सोशल मीडिया पोस्टर और मैसेज पर लगी रोक


अयोध्या केस को लेकर अभी भी राजनीति गरमाई हुई है। अयोध्या जमीन पर कभी भी फैसला आ सकता है। इसी को ध्यान में रखते हुए अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज कुमार ने सोशल मीडिया पर पोस्टर शेयर करने पर रोक लगा दी है।
उन्होंने कहा है कि जब तक अयोध्या केस पर फैसला नहीं आएगा तब तक कोई भी अयोध्या विवाद, राम मंदिर या बाबरी मस्जिद से जुड़ा मैसेज, और न ही कोई पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर करेगा। डीएम का कहना है कि सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने के लिए 28 दिसंबर तक यह रोक लगाई गई है। राम मंदिर पर फैसला आने से पहले जिला प्रशासन ने अयोध्या विवाद से जुड़े सभी पोस्टर पर रोक लगा दी है।
प्रशासन ने कहा है कि अयोध्या, मंदिर, मस्जिद या फिर सांप्रदायिक कमेंट सोशल मीडिया पर बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। अगर लोग अपने व्हाट्सएप, फेसबुक ट्विटर इंस्टाग्राम या दूसरे अन्य सोशल मीडिया ग्रुप पर आपत्तिजनक पोस्ट या कमेंट लिखते हुए पाए जाएंगे तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं 28 दिसंबर तक अयोध्या में सभी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रम, राजनैतिक, धार्मिक-सामाजिक रैलियां, वॉल पेंटिंग आदि सभी पर रोक रहेगी।
Related image

गौरतलब है कि इस बार अयोध्या में दीपावली पर विश्व रिकॉर्ड बनाया गया था। इस दौरान अयोध्या में पांच लाख से भी ज्यादा दिए जलाए गए थे। ये परंपरा योगी सरकार के आने से शुरु हुई थी।

संंपादकः प्रीति पाल

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap