सरकार ने जारी किया जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का नया नक्शा


जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के अलग केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद भारत सरकार ने देश का नया नक्शा जारी किया है।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के अलग केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद भारत सरकार ने देश का नया नक्शा जारी किया है। जिसमें 28 राज्यों और नौ केंद्र शासित प्रदेशों को दर्शाया गया है। बता दें, इस नक्शे में पीओके वाले हिस्से को कश्मीर क्षेत्र में दर्शाया गया है। इसमें पीओके के तीन जिलों मुजफ्फराबाद, पंच और मीरपुर शामिल है। लद्दाख में दो जिले कारगिल और लेह शामिल है, जबकि जम्मू-कश्मीर केंद्र शासिद प्रदेश में 20 जिले शामिल किए गए हैं।
सरकार ने कारगिल के वर्तमान क्षेत्र को छोड़कर लेह जिले के क्षेत्रों गिलगिट, गिलगित वजारत, चिलास, जनजातीय क्षेत्र, लेह और लद्दाख को भी कंपाइल किया है। इस आदेश को सरकार ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन आदेश-2019 का नाम दिया गया है।
बता दें, जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के मानचित्र में 20 जिले शामिल है। जिसमें मुजफ्फराबाद, मीरपुर और पुंछ के वे क्षेत्र शामिल हैं, जो पीओके के अधीन हैं। 1947 में जम्मू-कश्मीर राज्य में 14 जिले थे। इनमें कठुआ, जम्मू, उधमपुर, रियासी, अनंतनाग, बारामूला, पुंछ, मीरपुर, मुजफ्फराबाद, लेह और लद्दाख, गिलगित, गिलगित वजरात, चिल्हास और जनजातीय क्षेत्र शामिल थे।
गौरतलब है कि 5 अगस्त को गृह मंत्री अमित शाह ने अनुच्छेद 370 को हटाने का प्रस्ताव संसद में रखा था। जिसके बाद से ही जम्मू-कश्मीर में धारा 144 लागू हो गई थी। सभी मोबाइल फोन, बंद कर दिए गए थे। हालांकि अब वहां हालात धीरे-धीरे सुधर गए है। जिसके बाद जम्मू-कश्मीर 31 अक्टूबर को एक राज्य के रूप में अस्तित्व में नहीं रह गया और आधिकारिक तौर पर दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख में विभाजित हो गया।

संपादकः प्रीति पाल

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap