नेहरू मेमोरियल से कांग्रेस नेताओं को दिखाया गया बाहर का रास्ता, अमित शाह सहित इन नेताओं की हुई एंट्री


सांस्कृतिक मंत्रालय ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम और लाइब्रेरी सोसाइटी का एक बार फिर से पुनर्गठन किया है।

नई दिल्लीः सांस्कृतिक मंत्रालय ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम और लाइब्रेरी सोसाइटी का एक बार फिर से पुनर्गठन किया है। बता दें मोदी सरकार ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम से कांग्रेस को मुक्त कर दिया है। बीते दिन बैठक के बाद नेहरू म्यूजियम सोसाइटी से कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, करण सिंह और जयराम रमेश को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।

इन तीनों कांग्रेस नेताओं की जगह अनिर्बन गांगुली, गीतकार प्रसून जोशी और पत्रकार रजत शर्मा को जगह मिली है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सोसाइटी का उपाध्यक्ष बनाया गया है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोसाइटी का अध्यक्ष बनाया गया है।

Image result for nehru memorial museum and library

गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर सोसाइटी के सदस्य हैं। नेहरू मेमोरियल म्यूजियम और लाइब्रेरी को देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाला नेहरू की याद में बनाया गया था।

ये फैसले बीते दिन यानि 5 नवंबर को लिया गया। 5 नवंबर को संस्कृति मंत्रालय से जारी हुए नोटिस के बाद इस मसले को लेकर बीजेपी और कांग्रेस के बीच एक बार फिर नफरत की दीवारें खड़ी हो गई है। बीजेपी सालों से लगातार अलग-अलग मसलों को लेकर नेहरू और उनकी विरासत पर न सिर्फ सवाल उठाती है बल्कि हमलावर भी रही है। लेकिन इसके बावजूद भी बीजेपी के सदस्य को नेहरू मेमोरियल और म्यूजियम लाइब्रेरी की सोसाइटी में शामिल किया गया।

संपादकः प्रीति पाल

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap