BSNL में 15,000 से अधिक लोगों ने किया वीआरएस पैकेज के लिए आवेदन,


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 23 नवंबर 2019 को हुई बैठक में बीएसएनएल और एमटीएनएल के पुनरुद्धार के लिए DoT के प्रस्तावों पर विचार और अनुमोदन किया.

बीएसएनएल के कर्मचारी जो पिछले कुछ महीनों से दो सप्ताह की देरी से वेतन प्राप्त कर रहे हैं, कंपनी द्वारा दिए गए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) पैकेज के लिए वह बड़ी संख्या में आवेदन कर रहे हैं. सूत्रों के अनुसार 6 नवंबर को पहले ही दिन इस योजना में 15,000 से अधिक कर्मचारियों ने नामांकन किया है. दो दिन पहले कर्ज में डूबे बीएसएनएल ने 50 और उससे अधिक उम्र के कर्मचारियों के लिए वीआरएस की घोषणा की थी.

बीएसएनएल में लगभग 176,000 कर्मचारी हैं, जबकि 106,000 पात्रता आयु के अंतर्गत आते हैं. बीएसएनएल उम्मीद कर रहा था कि 80% कर्मचारी वीआरएस का विकल्प चुनेंगे. बीएसएनएल के चेयरमैन ने कहा कि हम 70,000 से 80,000 कर्मचारियों को कम करने और कर्मचारियों के लिए आकर्षक वीआरएस स्कीम ला रहे हैं. वीआरएस योजना 3 दिसंबर 2019 शाम 5:30 बजे तक उपलब्ध होगी.

सरकार वीआरएस के लिए कुल 29,900 करोड़ का निवेश करेगी. पिछले महीने, सरकार ने BSNL और MTNL का विलय करने का फैसला किया था. इस महीने की शुरुआत में सरकार ने घाटे में चल रही दूरसंचार कंपनियों बीएसएनएल और एमटीएनएल के लिए एक पुनरुद्धार पैकेज को मंजूरी दी थी, जिसमें कर्मचारियों के लिए संप्रभु बांड और स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) का जिक्र किया गया था.

MTNL को लिखे पत्र में कहा गया है ”केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 23 नवंबर 2019 को हुई बैठक में बीएसएनएल और एमटीएनएल के पुनरुद्धार के लिए DoT के प्रस्तावों पर विचार और अनुमोदन किया. इसके तहत 50 वर्ष या इससे अधिक आयु के कर्मचारियों को गुजरात मॉडल पर वीआरएस की पेशकश करके कर्मचारी लागत में कमी की जाएगी.

सम्पादक : शिवम् गुप्ता

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap