फैसले के बाद अलर्ट जारी, मुंबई समेत कई शहरों में धारा-144 लागू, इंटरनेट भी हुआ बंद


अयोध्या जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर उत्तर प्रदेश को पूरी तरह छावनी में तब्दील कर दिया गया है, राज्य के हर जिले में भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है, इसके अलावा दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु समेत कई शहरों में फ्लैग मार्च किया जा रहा है.

लंबे समय से चले आ रहे अयोध्या जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है, संवैधानिक पीठ के फैसले के बाद राम मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है, फैसला रामलला विराजमान के पक्ष मे गया है, फैसले को लेकर देशभर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं, उत्तर प्रदेश को पूरी तरह छावनी में तब्दील कर दिया गया है, राज्य के हर जिले में भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है, इसके अलावा दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु समेत कई शहरों में फ्लैग मार्च किया जा रहा है.


साथ ही दिल्ली, यूपी, राजस्थान, मध्य प्रदेश समेत कई शहरों मे सरकारी और प्राइवेट स्कूल कॉलेज और बाकी शिक्षा संस्थान बंद कर दिए गए है, इसके अलावा सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखी जा रही है, पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया पर कोई भी फैसले को लेकर न जश्न मनाएगा और न ही कोई विरोध में पोस्ट करेगा, और अगर किसी भी ग्रुप के किसी भी यूजर ने कोई भड़काई पोस्ट की तो उस ग्रुप के एडमिन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अयोध्या पर फैसले के मद्देनजर मुंबई में धारा-144 लागू कर दी गई है, दोपहर 11 बजे से धारा-144 लागू की गई है, इसके अलावा पूरे शहर में 40 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है, इसके अलावा पूरे शहर की सीसीटीवी से निगरानी की जा रही है, मुंबई के खास जगहों पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है.


दिल्ली में भी सुप्रीम कोर्ट के आस-पास इलाकों में धारा-144 लागू कर दी गई है. इसके साथ ही तिलक मार्ग की ओर जाने वाली मथुरा रोड से भगवान दास रोड को बंद कर दिया गया है. गाड़ियों को डायवर्ट कर दिया गया है, नोएडा में पुलिस ने धार्मिक स्थलों पर सघन चेकिंग अभियान चलाया. इसके साथ नोएडा में चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है.

दिल्ली मुंबई समेत उत्तर प्रदेश में और जम्मू कश्मी र में भी धारा 144 लागू कर दी गई है, इतना ही नही यूपी के अलीगढ़ में इंटरनेट पर बैन लगा दिया गया है। ताकि कोई भी व्यकित भ्रामक मैसेज या पोस्ट ना कर सकें जिससे देश की शांति में कोई दखल आए।

सम्पादक : केहकशा

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap