JNU छात्रों का बड़ा आंदोलन का इरादा, 14 नवंबर को मनाएंगे नेशनल प्रोटेस्ट डे


जेएनयू स्टूडेंट्स द्वारा किए जाने वाले इस आंदोलन में उनके साथ जेएनयू के शिक्षक भी शामिल होंगे. इसके अलावा विश्वभारती विश्वविद्यालय के छात्र और तमाम अलग-अलग छात्र संगठन भी समर्थन में आएंगे.

देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में शामिल जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि को लेकर छात्र सड़कों पर उतरे हैं. अब खबर आ रही है कि जेएनयू के छात्र इस मुद्दे पर बड़े आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार, जेएनयू छात्र 14 नवंबर को नेशनल प्रोटेस्ट डे के तौर पर मनाने जा रहे हैं. 

जेएनयू स्टूडेंट्स द्वारा किए जाने वाले इस आंदोलन में उनके साथ जेएनयू के शिक्षक भी शामिल होंगे. इसके अलावा विश्वभारती विश्वविद्यालय के छात्र और तमाम अलग-अलग छात्र संगठन भी समर्थन में आएंगे. AISA यानि ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन ने देशभर के छात्रों से अपील की है कि 14 नवंबर को वो नेशनल प्रोटेस्ट डे के तौर पर मनाएं.

आइसा के राष्ट्रीय सचिव ने कहा है कि हम ‘न्यू हॉस्टल मैनुअल’ के खिलाफ आंदोलनकारी छात्रों के साथ हैं. इसके अलावा AISA देश भर के कैंपस में नेशनल एजुकेशन पॉलिसी और जेएनयू में पुलिसिया दमन के खिलाफ 14 फरवरी को नेशनल प्रोटेस्ट मनाएगा.

बता दें कि जेएनयू के छात्रों ने आरोप लगाया है कि कुलपति प्रो एम जगदीश कुमार जेएनयू को पूरी तरह प्राइवेट करना चाहते हैं. इसी मंशा से हॉस्टल की फीस 3000 पर्सेंट तक बढ़ा दी है. इसे लेकर छात्र सोमवार को दीक्षांत समारोह के दिन हजारों की संख्या में सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन करने लगे. 

इसके बाद पुलिस ने वाटर कैनन और बल प्रयोग करके स्टूडेंट को तितर-बितर करने का प्रयास किया. पुलिस ने पूरा जेेएनयू कैंपस छावनी में तब्दील कर दिया था. इसके बाद देश भर के अलग-अलग विश्वविद्यालयों के छात्रों ने पुलिस और अर्धसैनिक बलों द्वारा कथित क्रूर हमले की निंदा की. विश्वभारती के छात्रों ने कहा कि वे जेएनयू में प्रदर्शनकारी छात्रों को सलाम करते हैं.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap