बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती बनकर निकले बागी विधायक, झारखंड विधानसभा चुनाव नहीं इतना आसान


झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए 30 नवंबर से होने जा रही वोटिंग को लेकर सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. क्या बीजेपी, क्या कांग्रेस सभी पार्टियों ने अपने स्टार प्रचारक मैदान में उतार दिए हैं. इस चुनाव के प्रथम चरण की सभी सीटों पर मुकाबला रोचक होता दिख रहा है. इसमें कई सीटों पर मुकाबला आमने-सामने का है तो कई सीटों पर त्रिकोणीय है.

30 नवंबर को पहले चरण में 13 सीटों पर चुनाव होना है. इसके लिए 190 उम्मीदवार मैदान में हैं. भाजपा के सामने अपनी पुरानी सीटों को बचाने की चुनौती है. भाजपा को अपने बागी विधायकों और नेताओं से खतरा है. दूसरी तरफ पुराने साथी ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (आजसू) ने भी एनडीए से नाता तोड़कर भाजपा की मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

पहले चरण की 13 विधानसभा सीटों में तीन सीटों पर भाजपा को अपनों से ही चुनौती मिल रही है. वहीं सात सीटों पर कांग्रेस-राजद-झामूमो गठबंधन से टक्कर मिल रही है. बाकी बची तीन सीटों पर पिछले सहयोगी आजसू ने मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है. बता दें कि पिछले चुनाव में इन 13 में से छह सीटों पर बीजेपी का कब्जा था. 

झारखंड विधानसभा चुनाव का मतदान पांच चरणों में होगा. पहले चरण की वोटिंग 30 नवंबर को होगी. दूसरे चरण का मतदान 7 दिसंबर को, तीसरे चरण का मतदान 12 दिसंबर को, चौथे चरण का मतदान 16 दिसंबर को तथा पांचवे चरण का मतदान 20 दिसंबर को होगा. वोटों की गिनती 23 दिसंबर को की जाएगी.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap