महाराष्ट्र की नई सरकार ने बनाए बीजेपी के प्रोजेक्ट को निशाना


महाराष्ट्र में बनी नई सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन के ड्रीम प्रोजेक्ट को झटका दे सकती है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन समेत राज्य में चल रही सभी विकास परियोजनाओं की समीक्षा के लिए आदेश दिए है.

उन्होंने आगे बताया कि बुलेट ट्रेन परियोजना को लेकर किसानों और आदिवासियों की तरफ से अपनी जमीन को अधिग्रहीत होने से बचाने के लिए विरोध किया गया. महाराषट्र के मुख्यमंत्री का कहना है कि ये सरकार आम आदमी की है. इसलिए सरकार से अपनी बात करने का अपनी समस्या बताने का पूरा हक है.

आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे ने राज्य की वित्तीय स्थिति पर श्वेत पत्र लाने की बात कही है. उन्होंने बताया राज्य सरकार पर करीब पांच लाख करोड़ रूपये का कर्ज है और वह किसानों का ये कर्ज बिना शर्त के माफ करने को लेकर प्रतिबद्ध है.

बीजेपी सरकार पर लगातार हमला करने वाली शिवसेना ने एकबार फिर बीजेपी पर तंज कसा है. शिवसेना ने कहा है कि, 170 का आंकड़ा देखकर विपक्ष विधानसभा से भाग खड़ा हुआ.

शिवसेना ने विपक्ष के बारें में लिखी हास्यापद बातें

शिवसेना का लिखा है कि, सरकार के साथ 170 विधायकों का बल है, ये हम पहले दिन से कह रहे थे. परंतु फडणवीस के चट्टे-बट्टों के चश्मे से ये आंकड़ा 130 के ऊपर जाने को तैयार नहीं था। विचारों की उड़ान भरने की क्षमता नहीं होगी तो कइयों को ‘टीले’ जैसा लगता है। ऐसा ही बहुमत के मामले में हुआ. 170 की संख्या देखकर फडणवीस के नेतृत्ववाला विपक्ष विधानसभा से भाग खड़ा हुआ.

पार्टी ने आगे लिखा है कि 170 का आंकड़ा भाजपावालों के आंख और दिमाग में घुस जाने का परिणाम ऐसा हुआ कि विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव में उन्हें पीछे हटना पड़.। अब अगले 5 साल उन्हें इसी तरह पीछे हटने की आदत डालनी पड़ेगी.

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को सलाह देते हुए पार्टी ने लिखा है कि मुख्यमंत्री की हैसियत से देवेंद्र फडणवीस ने जो गलतियां कीं वह विरोधी पक्ष नेता के रूप में तो उन्हें नहीं करनी चाहिए. विपक्ष के नेता पद की शान व प्रतिष्ठा बरकरार रहे, ऐसी हमारी इच्छा है.

शिवसेना ने आगे लिखा, असल में महाराष्ट्र की जनता को भाजपा के राज्य स्तरीय नेतृत्व में भी बदलाव चाहिए था इसका असर मतदान में दिखा था. यह उनका अंदरूनी मामला होने के कारण हम इस पर ज्यादा बोलेंगे नहीं. परंतु विश्वासमत प्रस्ताव के मौके पर नए विपक्षी नेता ने जो ‘ड्रामा’ किया वो कुछ ठीक नहीं था. साथ ही लिखा, मैं नियम और कानून से चलनेवाला इंसान हूं. शिवसेना ने ऐसी हास्यास्पद बातें कहीं।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap