स्कूबा डाइविंग से कर सकते हैं द्वारिका नगरी के अवशेष के दर्शन


द्वारिका के बारें में सभी लोग जानते हैं. लेकिन ये बहुत कम लोग जानते हैं कि श्रीकृष्ण की नगरी द्वारिका कई द्वारों से मिलकर बनी थी, जिसके द्वार आज भी समुद्र की गहराई में करीब 80 फीट नीचे विद्यमान है.
आपको बता दें कि अगर द्वारिका के अवशेषों के कोई दर्शन करना चाहे तो आज भी आसानी से दर्शन तकर सकता है. द्वारिका के दर्शन स्कूबा डाइविंग के जरिए ही आप इनके सभी अवशेषों को देख सकते है.

स्कूबा डाइविंग ट्रेनर शांतिभाई बंभानिया कहते है. कि लोगों के अंदर समुद्र में डूबी द्वारिका के अवशेषों को देखने के लिए ज्यादा उत्साहित देखा गया है. आगे कहा कि द्वारिका पर चल रहे शोध के बाद जल्द ही इसे आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा. ये सभी लोगों के लिए खुशखबरी होगी.

शांतिभाई बंभानिया का कहना है कि आने वाले पांच सालों के अंदर समुद्र के अंदर समाई द्वारिका पर शोध कर लिया जाएगा. इसके बाद सरकार स्कूबा डाइविंग के जरिए द्वारिका के अवशेषों के दर्शन की इजाजत देंगी. इ
उन्होंने बताया कि स्कूबा डाइविंग कर द्वारिका नगरी के अवशेषों के साथ ही आप रंगबिरंगी मछलियां और पौधों की अनेक प्रजातियां भी देख सकते हैं.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap