इंडोनेशिया में लागू धार्मिक कानून के चलते एक शख्स पर बरसाए 100 कोड़े


इंडोनेशिया में धार्मिक कानून लागू होने के कारण एक शख्स पर गुरुवार को कोड़े बरसाए गए. इस शख्स का दोष सिर्फ इतना था कि उसने शादी से पहले एक लड़की के साथ संबंध बनाए थे. जिसके बाद उसे कोड़े मारकर सजा दी गई. कोड़े से मार खाकर युवक बेहोश हो गया. और जब युवक को होश आया तो उस पर फिर से कोड़े बरसाए जाने लगे.

किन अपराधों पर मिलती है सजा

आपतो बता दें कि, इस शख्स की हालत खराब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. बता दें कि दुनिया भर में सार्वजनिक तौर पर इस तरह से दंड देने की आलोचना होती है लेकिन इस देश के लोगों के लिए इस्लामिक कानून के तहत प्रतिबंधित तमाम कार्यों के लिए यहां ऐसी सजा आम बात है. यहां जुआ खेलने, शराब पीने, गे होने या प्री-मैरिटल सेक्स को अपराध माना जाता है.

इंडोनेशिया में लागू है धार्मिक कानून

यही देश ऐसा है जहां धार्मिक कानून लागू है. दुनिया का सबसे बड़े मुस्लिम बहुल देश इंडोनेशिया में धार्मिक कानून लागू है. इस युवक की उम्र लगभग 22 वर्ष की है. जिसको शारीरिक संबंध बनाने पर 100 कोड़ों की सजा मिली थी. इस युवक ने शरिया अधिकारी से बड़ी मिन्नतें भी की लेकिन सब बेअसर रही.

करीब 500 प्रत्यक्षदर्शी थे मौजदू

जब कोड़े खाकर युवक बेहोश होने के बाद युवक को मेडिकल केयर दी गई और फिर कोड़े बरसाने शुरू कर दिए गए. बाद में, उसकी हालत इतनी खराब हो गई कि उसे नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

जब युवक पर कोड़े बरसाए जा रहे थे तो करीब 500 प्रत्यक्षदर्शी मौजदू थे जो ‘जोर से मारो’ चिल्ला रहे थे. जुलाई महीने में भी यहां तीन लोगों को प्री-मैरिटल सेक्स के लिए 100 कोड़े खाने की सजा सुनाई गई थी. जबकि दो पुरुषों को नाबालिग लड़कियों के साथ शारीरिक संबंध बनाने का दोषी पाया गया था, उन्हें भी सरे आम 100 कोड़े मारे गए थे. अन्य अपराधों के लिए दर्जन या कुछ कम कोड़े मारे जाते हैं

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति ने कहा

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो भी सार्वजनिक तौर पर इस तरह की सजा को खत्म करने की बात कह चुके हैं लेकिन एसेच की मुस्लिम आबादी के बीच अब भी ऐसी सजा प्रचलित हैं.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap