गुजरात के जिले की आगोश में छिपा है एक खूबसूरत पर्यटन स्थल जाने के लिए बार-बार करेगा मन


भारत में भ्रमण के लिए अनेकों खूबसूरत स्थल ऐसे हैं शायद जिनका नाम अभी तक आपने सुना नहीं होगा. पर्यटक हमेशा नए-नए पर्यटन स्थलों को खोजता रहता है और वहां पर जाने के लिए उत्साहित रहता है. और फिर उस खूबसूरत जगह की सैर किए बिना रह नहीं पाता. तो आइए जानें ऐसी ही खूबसूरत और अनोखी जगह जिसे सफेद रेगिस्तान के नाम से जानते हैं.

कच्छ का रण को कहा जाता है सफेद रेगिस्तान

भारत के पश्चिम में बसे गुजरात में अनोखे स्थल को देखे बिना आपका जीवन अधूरा है. इन्हीं अनोखे स्थलों में से एक है कच्छ का रण. जिसे सफेद रेगिस्तान के नाम से भी जाना जाता है.

कच्छ भारत का है एक प्राकृतिक अजूबा

आप गुजरात जायें और कच्छ की सैर किए बिना ही वापस आ गए तो समझिएगा आप सबसे खूबसूरत स्थल को करीब से जानने के लिए वंचित रहे गए. इस जगह पर नमक ही नमक है जिसकी वजह से इसे सफेद रेगिस्तान कहा जाता है. आपको बता दें कि, कच्छ भारत का एक प्राकृतिक अजूबा है. जिसे देखने के बाद आप कह उठेंगे कि कच्छ से बेहतर कोई और जगह नहीं है.

दरअसल, कच्छ एक द्वीप है जो भारत की मुख्यभूमि से अलग है. कच्छ और मुख्यभूमि के बीच समुद्र का छोटा सा हिस्सा आता है जो बारिश के मौसम के बाद पूरी तरह से सूख जाता है और फिर यहां चारों तरफ दिखती है सफेद भूमि जो होता है, नमक. इसे ही कच्छ का रण कहते हैं. यहां पर दो रण है एक बड़ा और दूसरा छोटा रण.

धोरडा गांव में होता है रण महोत्सव

हर वर्ष नवंबर से फरवरी के बीच धोरडो गांव में रण महोत्सव मनाया जाता है. इस कच्छ के रण में ही आपको जंगली गधे और बहुत से विविध प्रजातियों के जीव-जन्तु नजर आ जाएंगे।.

यहां पर कैसे पहुंचे

कच्छ का रण भुज जिले के अंदर आता है जो भारत के सभी प्रमुख स्टेशनों और सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है इसलिए आपको पहले गुजरात के भुज जिले में जाना होगा.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap