कर्नाटक में हुए विधानसभा उपचुनाव में अब किसकी होगी सत्ता


पांच दिसम्बर को कर्नाटक में हुए 15 विधानसभा उपचुनाव में जीत के लिए वोटों की गिनती जारी है. फिलहाल अभी तो बीजेपी आगे चल रही है. आपको बता दें कि उपचुनाव के नतीजे सबसे ज्यादा बीजेपी के येदियुरप्पा के लिए जरूरी है, क्योंकि सत्तारूढ़ दल को कम से कम सात सीटों पर जीत की जरूरत है, ताकि उसके पास 223 सदस्यीय विधानसभा में कम से कम साधारण बहुमत 112 हो सके.

आज 15 सीटों पर चुनाव के नतीजे बी. एस. येदियुरप्पा सरकार का भाग्य तय करेंगे. उपचुनाव में भाजपा को कम से कम सात सीटें जीतनी होंगी, जिससे सदन में उसका बहुमत बरकरार रहे. बता दें कि, भाजपा के पास वर्तमान में 105 विधायक में से एक निर्दलीय विधायक भी शामिल है. उधर कांग्रेस की आंख भी नतीजों पर टिकी लजर आ रही है, क्योंकि इसके नेता जनता दल-सेक्युलर (जद-सेक्युलर) के साथ फिर से गठजोड़ का संकेत दे रहे हैं.

वहीं कांग्रेस नेता बी.के.हरिप्रसाद ने कहा कि उपचुनाव में आने वाले नतीजों से बहुत सी चीजें बदल जा सकती है. जानकारी के मुताबिक, येदियुरप्पा के सत्ता में आने से पहले कांग्रेस-जद (सेक्युलर) की सरकार कांग्रेस के 14 व जद-सेक्युलर के तीन विधायकों के इस्तीफे से गिर गई थी. पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने सभी बागी विधायकों को अयोग्य करार दे दिया. दरअसल, सिर्फ15 सीटों पर उपचुनाव हुए है इन्हीं 15 उपचुनाव में से दो सीटों के लिए हाईकोर्ट में मुकदमा चल रहा है.

हालांकि, चुनाव आयोग अधिकारी जी. जडियप्प्पा ने बताया कि सुबह आठ बजे से 11 केंद्रों पर 15 विधानसभा क्षेत्रों के वोटों की गिनती शुरू हुई. बता दें कि इनमें बेंगलुरु के चार शहरी सीटों के लिए तीन शामिल हैं. पोस्टल बैलेट की गिनती पहले हो रही है, उसके बाद ईवीएम के वोटों की गिनती होनी है.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap