पर्याप्त नींद न लेने की वजह से हो सकती है आपको ये गंभीर बीमारियां


आज की भागदौड़ भरी जिदंगी में नींद के प्रति थोड़ा सा सजग हो जाएं, क्योंकि अगर नींद पर्याप्त नहीं लेंगे तो आप घिर सकते हैं अनेक बीमारियों से. यह सुनने में हैरतअंगेज लग सकता है, लेकिन नींद का दिल की बीमारियों से रिश्ता हो सकता है.

दिल की बीमारी पनपने का खतरा
जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, उन्हें दिल की बीमारियों का अधिक खतरा होता है. ये बीमारियां रक्तवाहिनियों अर्थात कार्डियोवेस्कुलर और धमनियों या कोरोनरी से संबंधित हो सकती हैं. इसलिए आपको कम से कम सात घंटे की पर्याप्त नींद लेनी चाहिए.

हो सकती है गंभीर बीमारियां
शोधकर्ताओं के अनुसार, बहुत कम सोने से हमारे स्वास्थ्य और जैविक प्रक्रियाओं पर असर पड़ता है। इससे ग्लूकोज के पाचन में गड़बड़ी आ सकती है, रक्तचाप असामान्य हो सकता है और सूजन की समस्या हो सकती है. नींद की कमी से उच्च रक्तचाप हो सकता है, तंत्रिका तंत्र की गतिविधि असामान्य हो सकती है और हृदय गति बढ़ सकती है.

तनाव से भी पड़ता है असर
ज्यादा कामकाज के बोझ से दिल पर दबाव पड़ता है, जो सेहत के लिए नुकसानदेह है. ऐसी स्थितियां अक्सर दिल की बीमारी की ओर ले जाती है.। अगर नींद सामान्य हो तो रक्तचाप का स्तर भी सामान्य रहेगा. अपर्याप्त नींद चिड़चिड़ापन, अधीरता, एकाग्रता में बाधा और आक्रामकता की ओर ले जाती है तथा पूरे दिन थकान का एहसास कराती है.

एक व्यक्ति को एक दिन में कितना सोना चाहिए
आमतौर पर ज्यादातर लोगों को प्रतिदिन सात से आठ घंटे सोने की जरूरत होती है. जो लोग एक दिन में पांच घंटे से भी कम समय तक सोते हैं, उन्हें धमनी से जुड़ी दिल की बीमारियों का जोखिम सामान्य लोगों के मुकाबले 40 फीसदी अधिक होता है.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap