तय कीजिए एक और सफर पहुंच जाइए बड़कोट की वादियों के साथ अलग-अलग लुभावने पर्यटन स्थलों पर


उत्तराखंड राज्य में कई छोटे-छोटे भागों में बंटे स्थल है जो पर्यटन को खूब लुभाते हैं. जी हां, ऐसा ही एक पर्यटन स्थल है बड़कोट. जो भारत के उत्तराखंड राज्य के काशी जिले में यमुना नदी के तट पर स्थित हैं. बड़कोट की यात्रा उत्तराखंड में घूमने वाली सबसे अच्छी जगहों में शामिल हैं. अब आप बड़कोट की तस्वीरें निहारना बंद कीजिए और चल पड़िए अपनी जिदंगी का एक और नया सफर तय करने के लिए. जो आपको कम समय में अपने प्राकृतिक दृश्यों को आपके भीतर उतार देगा यानि कि तन-मन में समा जाएगा और आप वहां से वापस आकर भी आपका मन वहीं रखा रहेगा.

समुद्र तल से ऊंचाई
समुद्र तल से बड़कोट की ऊंचाई 1220 मीटर हैं.

करिए दो धामों के दर्शन
हिन्दू धर्म के प्रमुख तीर्थ स्थल यमुनोत्री और गंगोत्री धाम की यात्रा के दौरान पर्यटकों के लिए बड़कोट एक प्रमुख पड़ाव के रूप में जाना जाता हैं. बड़कोट से यमुनोत्री धाम की दूरी लगभग 46 किलोमीटर है. आप समय बचाकर बड़कोट के साथ इन दो धामों की भी यात्रा कर सकते हैं.

एचवेंचरों के लिए कई मौके
बड़कोट में हुनमान चट्टी से यमुनोत्री धाम के बीच ट्रेकिंग के अलावा डावरा टॉप और डोडी ताल जैसी खूबसूरत जगहों पर ट्रेकिंग का लुत्फ़ उठाया जा सकता हैं. बड़कोटमें पहाड़ की चढ़ाई, रॉक क्लाइम्बिंग, पैराग्लिडिंग, जंगली पक्षियों को खाना खिलाना जैसी गतिविधियों का हिस्सा बन सकते हैं.

सूर्यकुंड
सूर्यकुंड गर्म पानी का आश्चर्यजनक कुण्ड है जो पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र बना हुआ है. सूर्यकुण्ड का पानी बहुत गर्म रहता है. इसके पानी का तापमान 1900F होता हैं.

जानकी चट्टी में साहसिक गतिविधियां
बड़कोट में साहसिक गतिविधियों के लिए प्रसिद्ध जानकी चट्टी युमनोत्री धाम से लगभग 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं. जानकी चट्टी युमनोत्री जाने वाले ट्रैक पर मध्य बिंदु के लिए जाना जाता हैं. जानकी चट्टी पर रुखकर पर्यटक थर्मल स्प्रिंग्स का आनंद लेते है जोकि जानकी चट्टी में बहुत अधिक लोकप्रिय है.

बड़कोट में प्रमुख त्यौहार
हरियाली देवी मेला, छोटा कैलाश मेला, होली महोत्सव का भी आनंद आप ले सकते हैं.


घूमने का सबसे अच्छा समय
बड़कोट की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय मानसून के दौरान का माना जाता है क्योंकि इस मौसम में बड़कोट में पाए जाने वनस्पति और पक्षियों का सही दृश्य मानसून के मौसम के दौरान ही देख जा सकते हैं.

बड़कोट के लजीज व्यंजन
बड़कोट अपने खूबसूरत पर्यटन स्थलों और आकर्षित वातावरण के साथ-साथ यहाँ का भोजन भी बहुत स्वादिष्ट होता हैं. बड़कोट के स्थानीय व्यंजनों में भांग की चटनी, गढ़वाल का पन्हा, फानू, बड़ी, कंदली का साग, चैन्सू, कुमाऊँनी रायता, झंगोरा की खीर, गुलगुला, अर्सा, सिंगोरी, आलू टुक, आलू का झोल आदि शामिल हैं.

जाने के लिए लीजिए इंटरनेट की मदद
आप बस, ट्रेन, हवाई जहाज कोई सा भी मार्ग अपना सकते हैं. यहां सटीक स्थान पर पहुंचने के लिए आप इंटरनेट की मदद ले सकते हैं।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap