प्रदूषित हवा के बीच रहने से बढ़ती है डिप्रेशन और खुदकुशी की आशंका


ज्यादात्तर लोग वायु प्रदूषण से बचने के लिए कुछ न कुछ उपाय करते रहते हैं लेकिन वहीं ज्यादात्तर लोगों में कुछ ऐसे भी है जो वायु प्रदूषण से बचाव करने की तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं देते हैं. ऐसी स्थिति में इन लोगों की सेहत खराब होने लगती है और सिर्फ सेहत ही नहीं.

प्रदूषण शारीरिक रूप से नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ आपको मानसिक रूप से भी बीमार बना देता है. हाल ही में हुई एक स्टडी में भारत सहित 16 देशों के डेटा की समीक्षा की गई. जिसमें यह बात सामने आई कि हद से ज्यादा प्रदूषित हवा के बीच में रह रहे लोगों में डिप्रेशन और खुदकुशी करने की आशंका बढ़ जाती है.

दूषण शारीरिक रूप से नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ आपको मानसिक रूप से भी बीमार बना देता है. हाल ही में हुई एक स्टडी में भारत सहित 16 देशों के डेटा की समीक्षा की गई. जिसमें यह बात सामने आई कि हद से ज्यादा प्रदूषित हवा के बीच में रह रहे लोगों में डिप्रेशन और खुदकुशी करने की आशंका बढ़ जाती है.

वायु प्रदूषण और मानसिक रोग के बीच है कनेक्शन
इन्वायरनमेंटल हेल्थ पर्सपेक्टिव्स नाम के जर्नल में प्रकाशित हुई यह स्टडी अब तक की पहली सिस्टमैटिक स्टडी है, जिसमें इस बात को साबित किया गया है कि वायु प्रदूषण और मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम्स के बीच कनेक्शन है. यूके की यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों ने नौ स्टडी से मिले डेटा का विश्लेषण किया, जिसमें पीएम (पर्टिकुलेट मैटर) 2.5 प्रदूषण का वयस्कों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर के बारे में जानकारी दी गई थी.

दिमाग में हो सकते हैं टेंशन वाले हार्मोन
सर्वे में पाया गया कि जैसे-जैसे प्रदूषण का लेवल बढ़ता जाता है वैसे-वैसे खुदकुशी करने वालों की संख्या और डिप्रेशन की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ती जाती है. सर्वे को दौरान बताया गया कि खराब हवा में मौजूद कण रक्तप्रवाह और नाक दोनों के जरिए दिमाग तक पहुंच सकते हैं और दिमाग में सूजन, तंत्रिका कोशिकाओं को नुकसान और टेंशन वाले हॉर्मोन्स को बढ़ा सकते हैं.

कितना जरूरी है शुद्ध हवा में सांस लेना
स्टडी के लीड ऑथर आईसोबेल ब्रैथवेट कहते हैं, वायु प्रदूषण की वजह से हार्ट से लेकर लंग्स तक की कई बीमारियां, स्ट्रोक और डिमेंशिया का खतरा भी काफी अधिक रहता है. लेकिन अब हम इस बात को भी दिखा रहे हैं कि वायु प्रदूषण हमारी मानसिक सेहत को भी काफी नुकसान पहुंचाता है. लिहाजा हम जिस हवा में सांस ले रहे हैं उसका साफ और शुद्ध होना कितना जरूरी है।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap