न नौकरी से न ही बिजनेस से इस अनोखे शख्स ने लिया खेती से रिटायरमेंट


कुछ किस्से कुछ कहानियां ऐसी होती है जो न चाहते हुए भी मन में कई सालों कर घुमड़ते रहते हैं. ऐसा ही एक और वाक्या सामने आया है जिसे शायद आप पहली बार सुनेंगे जिसकी वजह से आप आसानी से भूल नहीं पाएंगे. तो चलिए बताते हैं

बैलगाड़ी पर बिठाकर निकाला जुलूस
महाराष्ट्र के भंडारा जिले में मोहगांव के काले परिवार ने एक बहुत ही अनोखा काम किया है जिसे देखने आस-पास को लोग शामिल हो रहे हैं. काले परिवार ने 58 से 60 साल तक खेती करने के बाद मुखिया गजानन काले (80) को रिटायरमेंट दिया यानि कि अब वह खेती का काम नहीं करेंगे और परिवार ने उन्हें विदाई देने के लिए खेत में कार्यक्रम आयोजित किया गया. जिसमें दस किसान और शामिल थे. इन 10 किसानों को भी सम्मानित किया गया और उन्हें बैलगाड़ी पर बिठाकर जुलूस निकाला गया.

छोटे भाई का प्रेम भरा संदेश
गजानन के भाई यशवंत ने बताया कि हमारा संयुक्त परिवार है, जिसमें छोटे-बड़े 19 सदस्य हैं. गजानन के हिस्से में 25 एकड़ खेती है. भाई की उम्र ज्यादा हो गई थी, इसलिए हमने उन्हें खेती के काम से मुक्त करने के लिए यह फैसला लिया.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap