महात्मा गांधी और मार्टिन लूथर किंग जूनियर की विरासत के लिए किया गया एक विधेयक पेश


महात्मा गांधी और मार्टिन लूथर किंग जूनियर की विरासत को बढ़ावा देने के लिए अमेरिका के दिग्गज नागरिक अधिकार नेता कांग्रेसी जॉन लुईस ने प्रतिनिधि सभा में एक विधेयक पेश किया है.

इसके लिए उन्होंने पांच वर्षों के लिए 150 मिलियन अमेरिकी डॉलर के बजटीय आवंटन की मांग की है. हाउस बिल महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाने के लिए प्रस्तुत, दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्रो के बीच दोस्ती की बढ़ा रहा है. साथ ही महात्मा गांधी और डॉ. मार्टिन लूथर किंग जूनियर की विरासत और योगदान का सम्मान करता है. आइए बताते हैं दोनों की विरासत को बढ़ाने के लिए बिल में क्या-क्या प्रस्ताव किया गया.

गांधी-किंग फाउंडेशन के लिए 30 मिलियन अमेरिकी डॉलर की मांग
इसके अलावा, बिल में गांधी-किंग डेवलपमेंट फाउंडेशन की स्थापना का प्रस्ताव है, जो यूएसएआईडी द्वारा भारतीय कानूनों के तहत बनाया जाएगा. बिल में फाउंडेशन के लिए हर साल 30 मिलियन अमेरिकी डॉलर की मांग की गई है, जिसे अगले पांच साल तक जारी रखने की मांग की गई है.

गैर-सरकारी संगठन करेगी आर्थिक सहायता
इस फाउंडेशन में अमेरिका और भारत की सरकारों द्वारा गठित एक काउंसिल होगी जो स्वास्थ्य, प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन, शिक्षा, महिला सशक्तीकरण के क्षेत्रों में गैर-सरकारी संगठनों को अनुदान मुहैया कराएगी.

छह डेमोक्रेट्स सांसद है शामिल
इस बिल को छह अन्य डेमोक्रेट्स सांसदों का समर्थन हासिल है. इनमें तीन भारतीय मूल के डॉ. एमी बेरा, रो खन्ना, और प्रमीला जयपाल शामिल हैं. इनके अलावा तीन कांग्रेस नेता ब्रेंडा लॉरेंस, ब्रांड शेरमैन और जेम्स मैक गवर्न शामिल हैं.

शामिल होगा एक वार्षिक शैक्षिक मंच
बिल में 2025 तक के लिए 2 मिलियन अमेरिकी डॉलर के आवंटन के साथ गांधी-किंग छात्रवृत्ति के आदान-प्रदान पहल की स्थापना का प्रस्ताव है. इसमें भारत और अमेरिका के विद्वानों के लिए एक वार्षिक शैक्षिक मंच शामिल होगा जो दोनों देशों में ऐच्छिक रूप से आयोजित किया जाएगा.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap