आखिर किस वजह से कानून लागू नहीं होने दे रही ममता बनर्जी


नागरिकता संशोधन कानून लागू होने के बाद से देश ,में काफी हडकंप ,मचा हुआ है कुछ लोग घर से बाहर जाने से डर रहे हैं तो वहीं ज्यादात्तर लोग घरों से बाहर निकलकर सड़को पर भारी विरोध करने में जुटे हुए है.

अलग – अलग प्रदेशों की सरकार भी इस कानून का विरोध कर रही है. वहीं सरकार विरोधियों की परवाह न करते हुए अब एक और नया कानून लाने की ओर कदम बढ़ा रही है. ये नया कानून एनपीआर है, जिसको लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस कानून को रोकने के लिए पूरे ताकत लगाने के लिए तैयार है. जानिए क्या है डर.

एनपीआर के कार्य में की रूकावट
इन लोगों में एनआरसी को लेकर तो पहले से ही डर था और नागरिकता संशोधन कानून ने उनके खौफ को और बढ़ा दिया है. वहीं एनपीआर को लेकर उनके मन में पहले से डर है. नागरिकता संशोधन कानून लागू होने से जो डर मुसलमानों को है वही डर यहां के लोगों को भी है. उन्हें खौफ है कि उन्हें यहां से निकाल दिया जाएगा. इन्हीं लोगों के समर्थन में ममता बनर्जी खड़ी हैं और यही कारण है कि ममता बनर्जी ने एनपीआर का काम रोकवा दिया है.

घुसपैठियों का है डर
ममता बनर्जी का ये कानून न लागू होने के पीछे बड़ी वजह है और वह बड़ी वजह भारी घुसपैठी है ममता बनर्जी का मानना है कि अगर सभी कानून लागू हो जाते हैं तो सबसे पहले बाहरी देश से आए हुए लोग पश्चिम बंगाल में अपनी पैठ जमाएंगे जिससे संख्या काफी हो सकती है और सम्भालने में भी मुश्किलें आ सकती है. बता दें कि 1971 में बांग्लादेश के गठन के साथ ही वहां से बड़ी संख्या में लोग यहां ए.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap