अब भीड़ से न‍िपटने के ल‍िए द‍िल्ली पुल‍िस हाइटेक तरीके से उतरेगी


कुछ दिन पहले दिल्ली में प्रदर्शनकारी हर तरफ बवाल मचाते हुए इतने ज्यादा हिंसक हो गए थे कि पुलिस वाले भी इन लोगों से खुद को नहीं बचा पाए.

क्योंकि सेफ्टी के कोई साधन मौजूद नहीं थे उनके पास, इसलिए उपद्रवियों को रोकने की बजाए पीछे हटना पड़ा था. आपको बता दें कि अब पुलिस वाले इन उपद्रवियों का सामना डटकर कर सकते हैं. आइए जानते हैं।

स्पेशल बॉडी प्रोटेक्टर
इस बार संवेदनशील इलाकों में बुलेट प्रूफ वाली स्पेशल रिजर्व पुलिस फोर्स भी मौके पर तैनात की गई है. यहां पर रैपिड एक्शन फोर्स के जवान तैनात हैं. सीलमपुर से सबक लेते हुए पुलिस ने पत्थर रोकने के लिए स्पेशल बॉडी प्रोटेक्टर पहना है. बहुत ही हार्ड प्लास्टिक से बनी ये जैकेट बुलेट प्रूफ नहीं है. हालांकि, इसका इस्तेमाल पत्थर, नुकीली चीज, बोतल और दूसरी फेंकी गई चीजें रोकने के लिए है.

12 वोल्ट का लगेगा करंट
इनके पास एक ऐसा उपकरण है जिसमें 12 वोल्ट का करंट पैदा होता है. इस डिवाइस को इलेक्ट्रिक सेफ्टी शील्ड कहते हैं. अगर वह किसी प्रोटेस्टर्स को यह लगा दे तो उसको करंट लगेगा. यह दिल्ली में पहली बार इस्तेमाल की जा रही है. हालांकि, रैपिड एक्शन फोर्स के पास ये पहले से है. अगर प्रोटेस्टर उग्र हो जाए, उस स्थिति में इसका इस्तेमाल किया जाता है. दिल्ली के सीलमपुर इलाके में ये इस्तेमाल के लिए लाई गई थी.

बड़ी संख्या में हुआ था उग्र प्रदर्शन
बता दें क‍ि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ 17 द‍िसंबर को पूरे देश में प्रदर्शन हुआ था. उत्तर पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर इलाके में भी बड़ी संख्या में लोगों ने उग्र प्रदर्शन किया था. उनकी मांग थी कि नए नागरिकता कानून को वापस लिया जाए. प्रदर्शन के दौरान कई गाड़ियों के शीशे तोड़े गए. पथराव में कुछ पुलिसवाले और प्रदर्शनकारी घायल हुए थे.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap