प्रदूषण के सम्पर्क में आकर त्वचा में पैदा हो जाती है कई परेशानियां


प्रदूषण के कई रूप होते हैं जैसे धूल, मिट्टी, धुआं और हवा में भरी गंदगी. ये प्रदूषण एकसाथ मिलकर हमारी त्वचा के सम्पर्क में आ जाते हैं.

जिससे हमारी त्वचा को भारी नुकसान पहुंचता है. ये परेशानियां शुरुआत में देखने में छोटी लगती हैं. लेकिन लम्बे समय तक प्रदूषण झेलने वाली त्वचा परेशान हो जाती है. प्रदूषण की वजह से कई छोटी और बड़ी समस्‍याएं होने लगती है. आइए जानते हैं क‍ि प्रदूषण किस तरह आपके चेहरे को प्रभावित करती है.

गंदगी से भरी हवा स्किन को पहुंचाती है नुकसान
एक्ज़िमा या स्किन इरिटेशन, त्वचा में जलन, खुजली और रैशेज़ होने लगते हैं. प्रदूषण बढ़ने पर त्वचा को दोहरा नुकसान होता है. दरअसल सूरज की यूवी किरणों के सम्पर्क में आने से त्वचा का टेक्स्चर और हेल्थ बिगड़ने का डर हमेशा बना रहता है. इसके अलावा धूल-गंदगी से भरी हवा और धुआं भी आपकी स्किन को बीमार बना देता है.

प्रदूषण के कारण खत्म हो जाता है चेहरे का ग्लो
त्वचा का रूखापन बढ़ने की एक वजह प्रदूषण भी है. प्रदूषित हवा त्वचा की नमी कम कर देती है, जिससे स्किन का रूखापन बढ़ जाता है. प्रदूषण और ड्राईनेस की वजह से स्किन इलास्टिसिटी भी कम हो जाती है, नतीजतन त्वचा पुरानी दिखने लगती है और चेहरे का ग्लो खत्म होने लगता है।

पोर्स और बालों से चिपक जाती है धूल
शरीर की त्वचा के साथ-साथ सिर की त्वचा या स्कैल्प पर भी प्रदूषण का असर होता है. हवा के साथ केमिकल्स औऱ धूल-मिट्टी सिर की त्वचा में मौजूद पोर्स और बालों से चिपक जाते हैं. इनकी वजह से स्क्लैप पर खुजली, फोड़े और डैंड्रफ जैसी समस्याएं होने लगती हैं. इससे बाल कमज़ोर होने लगते हैं.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap