क्रिसमस के दिन एक शख्स को तोहफे में मिला पैसों से भरा बैग


क्रिसमस की किताबों में छपी कहानियों के बारें में सभी ने पढ़ा. और पढ़ते है तो उसमें लिखा होता है कि सांता क्लॉज आसमान से पृथ्वी पर उतरकर बच्चों को टॉफियां बांटते हैं और गिफ्ट भी देते हैं.

जिसे जिस चीज की जरूरत होती है तो सांता क्लॉज क्रिसमस की रात में आकर चुपके से लोगों को गिफ्ट दे जाते हैं. चलिए ये हुई कहानियों के बारें में. लेकिन सच में एक शख्स के साथ ऐसा हुआ जिसे क्रिसमस वाले दिन एक बड़ा सा गिफ्ट के रूप में पैसों से भरा बैग मिला. जी हां, ये कोई मनगढ़ंत कहानी नहीं है. तो आइए आपको बताते हैं हकीकत क्या है.

बैग में थे 12 लाख रुपये
क्रिसमस के दिन सभी अपनी मस्ती में थे जगह जगह पर भीड़ थी. ऐसे में हाल ही में क्रिसमस की एक खबर जर्मनी से आई है. जहाँ एक शख्स को पेड़ के नीचे नोटों से भरा बैग मिला और जब उसने उसे खोलकर देखा तो उसमें काफी पैसे थे. उसके अनुसार उसमें लगभग 17000 डॉलर कैश… यानी भारतीय करंसी के हिसाब से 12 लाख रुपये थे. जी हाँ, जिस 51 साल के व्यक्ति को यह बैग मिला, उसने तुरंत पुलिस को बुलाया और उन्हें इसके बारे में जानकारी दी.

Related image

एक शख्स पेड़ के नीचे भूल गया था पैसों से भरा बैग
इस मामले में पुलिस ने जानकारी लेने के बाद जांच शुरू की और जिसका बैग था उस शख्स को बुलाया गया. खबरों के मुताबिक उसकी उम्र 63 वर्ष थी… वो अपना बैग यहीं पेड़ के नीचे भूल गया था लेकिन जब उसे बैग मिला तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. जी हाँ, उसके बाद जिस शख्स ने बैग लौटाया था उसे बैग के ऑनर ने कुछ कैश डॉलर देने चाहे, लेकिन शख्स ने लेने से मना कर दिया. बल्कि उसने यह कहा कि क्रिसमस के मौके पर यह फीस नहीं ले सकता.

क्या है फाइंडर फीस
आपको बता दें कि जर्मनी में जब किसी का कोई गुमशुदा सामान मिल जाता है तो वहां फाइंडर फीस दी जाती है और यह उसे दी जाती है जिसने गुमशुदा सामान को खोजने में मदद की. ऐसे में सामान का मालिक इसका मूल्य सामान के मूल्य के मुताबिक तय करता है लेकिन 51 साल के व्यक्ति ने उसे लेने से साफ़ इंकार कर दिया.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap