दुनिया की सबसे कम उम्र की महिला ने की ‘रोराइमा पर्वत’ की चढ़ाई


कहते है हौसलों में उड़ान होने से कोई भी व्यक्ति कुछ भी कर सकता है. जी हां, ऐसा ही कुछ कर दिखाया है 21 साल की एना टेलर ने.

एना टेलर ब्रिटेन के उत्तर-पश्चिमी शहर विंडरमेरे कम्ब्रिया की रहने वाली है. एना ने एना ने गआना के रोराइमा पर्वत की 2000 फीट की खड़ी चट्टानों की दीवार पर चढ़ाई का टास्क दिसंबर की शुरुआत में पूरा किया. ऐसा करने वाली वह संभावित पहली महिला है.

चढ़ाई करने वाले सदस्यों में सबसे युवा एना
दुनिया की सबसे कठिन खड़ी चढ़ाई करने वाले इस अभियान में 6 सदस्यों का दल था. एना इन 6 सदस्यों में अकेली महिला थी और सबसे युवा भी. लैटिन अमेरिका के देश गयाना के रोराइमा पर्वत तक पहुंचने के लिए टीम के सदस्यों ने 52 किलोमीटर का सफर तय किया.

दो हफ्ते की चढ़ाई के वो कठिन दौर
टीम का नेतृत्व ब्रिटेन के 39 साल के लियो हॉल्डिंग ने किया. इस दौरान टीम का सामना जहरीले सांपों, मकड़ियों, बिच्छू और दलदल वाली जमीन से भी हुआ. पर्वत के शून्य से शिखर तक पहुंचने के लिए टीम ने दो हफ्ते तक चढ़ाई की। इस दौरान सोने और खाने के लिए वह हैंगिंग टेंट का इस्तेमाल करते, जो रस्सियों से बंधे होते थे.

सीधी चट्टान पर था चढ़ना
मिशन पूरा कर ब्रिटेन पहुंची एना ने बताया, ‘यह उसकी जिंदगी का सबसे रोमांचकारी अभियान था. पूरी दीवार सीधी खड़े आकार में हैं. इस पर चढ़ना बहुत कठिन है. हम अपने अभियान के दौरान विशेष प्रकार के टेंट लेकर गए थे, जो कि खड़े ढाल वाली दीवार पर लटकाए जा सकते थे. हम रस्सियों के सहारे चढ़ रहे थे. चढ़ाई के दौरान आराम करने के लिए हमारा आधार 3 चौड़ी और 30 लंबी जगह होती थी. बीच में जब भी मौसम खराब होता था, तब लगता था, पता नहीं शिखर पर पहुंचेंगे या नहीं।’

एनिमेटेड फिल्म में हुआ है जिक्र
पहाड़ी का ऊपरी शिखर 9 हजार फीट का समतल एरिया है. इसके बारे में सर आर्थर कैनन डॉयल के नोवेल ‘द लॉस्ट वर्ल्ड’ में कहा, ‘यह वह जगह है, जहां डायनासोर घूमते थे.’ इसका जिक्र 2009 में आई एक एनिमेटेड फिल्म में भी किया गया था. फिल्म का हीरो पत्नी की इच्छा पूरी करने के लिए उसकी मौत के बाद भी सैकड़ों गुब्बारों से अपने घर को उड़ाकर पर्वत के टॉप पर पहुंचता है।

सर वाल्टर रेलै
इस पर्वत के बारे में 1595 में पहली बार सर वाल्टर रेलै ने जानकारी दी थी. यह एक खड़ी चट्टानी ढाल वाला पर्वत है. इसका ऊपरी भाग समतल है और यह अमेजन बेसिन के गयाना, ब्राजील और वेनेजुएला की सीमा पर स्थित है. पर्वत का निर्माण करीब 20 लाख साल पहले का माना जाता है. यह पठार पूरी तरह से बादलों से घिरा रहता है. वर्षा वनों के बीच होने पर यहां लगभग रोज ही बारिश होती है. यहां अद्वितीय वन्यजीवों की विविधता भी पाई जाती है।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap