इस घातक बीमारियों से निजात पाने के लिए आजमाएं घरेलू नुस्खे


कपकपाती ठंड में अक्सर लोग कंबल और रजाई के अंदर ही बैठना पसंद करते हैं ताकि उन्हें गर्मी का अहसास मिलता रहे.

घर का कोई सदस्य अगर कुछ काम के लिए घर से बाहर जाने को बोलता है तो लोग हाथ-मुंह सिकोड़ने लगते हैं और कोशिश करते हैं कि अपनी रजाई से बाहर न निकलें. दरअसल कुछ लोगों के हाथ-पैर घंटों रजाई में बैठे रहने के बाद भी ठंडे रहते हैं. क्या आपके साथ भी ऐसा ही होता है. तो आइए आपको बताते हैं ऐसा क्यों होता है और आप इस स्थिति में क्या-क्या कर सकते हैं…

खराब ब्लड सर्कुलेशन है सबसे बड़ी वजह
हमारे हाथ और पैर तब ठंडे पड़ जाते हैं जब उन्हें पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाता या फिर रक्त की आपूर्ति नहीं हो पाती. ऐसा खराब ब्लड सर्कुलेशन के कारण हो सकता है. कभी-कभी हमें एनीमिया, पैरों में लगातार दर्द, क्रॉनिक फैटिग सिंड्रोम, नसों की क्षति, डायबिटीज, हाइपोथायराइडिज्म जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के कारण जरूरत से ज्यादा ठंड भी लगती है. अगर आपको हमेशा दूसरों से ज्यादा ठंड लगती है या फिर आपके हाथ-पैर गर्म रजाई में रहने के बावजूद ठंडे रहते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

आप इस समस्या से घरेलू नुस्खे को आजमाकर छुटकारा पा सकते हैं.

गर्म तेल की मसाज कर, दें ऑक्सीजन
मसाज करना आपके हाथ और पैरों को गर्म करने का सबसे आसान तरीका होता है. पैरों और हाथ को रगड़ने से रक्त प्रवाह सही होता है और ऑक्सीजन की आपूर्ति होती है.नमक के पानी से नहाएं
आप एक बाल्टी गर्म पानी में नमक डालिए और अपने पैरों और हाथ को उसमें डालें. पानी की गर्माहट आपके पैरों को गर्म प्रभाव देगा और सॉल्ट आपके शरीर को मैग्निशियम प्रदान करेगा. इससे आपके हाथ-पैर जल्दी गर्म होंगे.

एनीमिया की बीमारी को करें दूर
आयरन की कमी एनीमिया के सबसे आम कारणों में से एक है, जिसके परिणामस्वरूप हाथ और पैर ठंडे हो जाते हैं. एनीमिया से लड़ने के लिए, अपने रोजमर्रा की डाइट में खजूर, सोयाबीन, पालक, सेब, सूखे खुबानी, जैतून और चुकंदर जैसे आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन जरूर करें.

लक्षण दिखाई देने पर डॉक्टर से लें सलाह
कभी-कभी हाथ-पैर ठंडे पड़ना सामान्य है लेकिन अगर ऐसी स्थिति बार-बार रहती है तो आपके लिए डॉक्टर को दिखाना जरूरी हो जाता है. हाथ-पैर ठंडे होने के साथ-साथ अगर आपको थकान, वजन कम होना या बढ़ना, बुखार, जोड़ों का दर्द, हथेलियों और पैरों पर घाव त्वचा पर चकत्ते पड़ना जैसे लक्षण दिखाई दें तो डॉक्टर से तुरंत सलाह लें.

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap