गुलमर्ग में तैनात जवान राजेंद्र सिंह नेगी बर्फ में फिसलकर पहुंचे पाकिस्तान, परिवार ने लगाई भारत सरकार से गुहार


कश्मीर के गुलमर्ग में तैनात देहरादून के पज्याणां गांव निवासी सेना में हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी बर्फ में फिसलकर पाकिस्तान सीमा में पहुंच गए और वहां से लापता हो गए हैं.

सैनिक राजेंद्र के लापता होने की खबर जैसे ही परिजनों व ग्रामीणों को पता चली, तो परिवार व गांव में कोहराम मचा है. दुबई से प्रकाशित समाचार पत्र खलिज टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि सीमा पर तैनात एक भारतीय फौजी बर्फ मेंल फिसलकर पाकिस्तान के कब्जे वाले क्षेत्र में जा पहुंचा है. फिलहाल राजेंद्र सिंह के बारे में कोई सूचना नहीं मिल पा रही है.

पत्नी से कब हुई थी बात?
8 जनवरी को अचानक उनकी यूनिट से पत्नी राजेश्वरी के पास फोन आया और बताया गया कि हवलदार राजेंद्र सिंह मिसिंग हैं, उनकी तलाश की जा रही है. एक-दो दिन इंतजार करने के बाद जब यूनिट से संपर्क किया गया तो पता चला कि वह ड्यूटी के दौरान बर्फ में फिसलकर पाकिस्तान की सीमा में चले गए हैं. वहीं राजेंद्र की पत्नी के मुताबिक, बीती 8 तारीख को उनकी आखिरी बार राजेन्द्र से बात हुई थी पर उसके बाद से उनकी कोई खबर नहीं है. परिजनों ने भारत सरकार से उनकी सुरक्षित वापसी की गुहार लगाई है.

कश्मीर के गुलमर्ग में तैनात थे राजेंद्र
मूल रूप से गढ़वाल के आदिबद्री और देहरादून में अंबीवाला सैनिक कॉलोनी में रहने वाले राजेंद्र सिंह नेगी ने वर्ष 2002 में 11 गढ़वाल राइफल्स ज्वॉइन की थी. वे अक्टूबर में एक माह की छुट्टी बिताने देहरादून आए थे और नवंबर में लौट गए थे. वे कश्मीर के गुलमर्ग में बर्फीले इलाके में तैनात थे.

सीडीएस जनरल से की बात
प्रेमनगर स्थित सैनिक कॉलोनी अंबीवाला निवासी भारतीय सेना के 11वीं गढ़वाल राइफल्स में तैनात हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी बीते दिनों से गुलमर्ग के अग्रिम पोस्ट से लापता हैं, उनकी मदद के लिए मसूरी विधायक गणेश जोशी ने सीडीएस जनरल विपिन रावत से फोन पर बात की.

रविवार को मसूरी विधायक गणेश जोशी ने लापता सैनिक के परिजनों से मुलाकात की और जल्द ही शुभ समाचार आने की बात कही. विधायक ने फोन पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ जनरल विपिन रावत से बात कर मदद का अनुरोध किया।

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap