कोरोना दुनिया में अब तक एक लाख 20 हजार लोगो की ले चुका है जान


वॉशिंगटन. दुनियाभर में कोरोनावायरस से अब तक 19 लाख 34 हजार 976 संक्रमित हो चुके हैं। एक लाख 20 हजार 438 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, चार लाख 56 हजार 840 ठीक भी हुए हैं। वहीं, अमेरिका में कोरोनावायरस से अब तक 18 हजार 56 लोगों की जान जा चुकी है। यहां 24 घंटे में 567 लोगों ने दम तोड़ा है। अमेरिका (पांच लाख 87 हजार 173) के बाद संक्रमण के यहां सबसे ज्यादा एक लाख 72 हजार 541 केस हैं।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देशकितने संक्रमितकितनी मौतेंकितने ठीक हुए
अमेरिका5 लाख 87 हजार 17323 हजार 64436 हजार 948
स्पेन1 लाख 72 हजार 54118 हजार 05667 हजार 504
इटली 1 लाख 59 हजार 51620 हजार 465 35 हजार 435
फ्रांस1 लाख 36 हजार 779 14 हजार 96727 हजार 718
जर्मनी1 लाख 30 हजार 0723 हजार 194 64 हजार 300
ब्रिटेन88 हजार 62111 हजार 329उपलब्ध नहीं
चीन82 हजार 2493 हजार 34177 हजार 738
ईरान73 हजार 3034 हजार 58545 हजार 983
तुर्की 61हजार 049    1 हजार 2963 हजार 957
बेल्जियम30 हजार 5893 हजार 9036 हजार 707

स्रोत: https://www.worldometers.info/coronavirus/

कोरोना स्वाइन फ्लू से 10 गुना घातक: डब्ल्यूएचओ

अमेरिका: न्यूयॉर्क में 10 हजार से ज्यादा मौतें
अमेरिका में कोरोनावायरस से अब तक 23 हजार 640 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें केवल न्यूयॉर्क में 10 हजार से ज्यादा जान गई है। वहीं, देश में संक्रमण के मामले पांच लाख 86 हजार से ज्यादा हो गए हैं। वहीं, न्यूयॉर्क में एक लाख 95 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं। अमेरिका में सोमवार को 1,535 लोगों की मौत हुई, जबकि संक्रमण के 26 हजार 641 नए मामले सामने आए।

  • अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सोमवार को कोरोनावायरस के कवरेज को लेकर मीडिया पर भड़के नजर आए। उन्होंने सीबीएस चैनल की रिपोर्टर पाउला रीड के एक सवाल पर कहा कि आप झूठी हैं और आपका पूरा कवरेज फर्जी है।
  • पाउला रीड ने व्हाइट हाउस टास्क फोर्स की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ट्रम्प से पूछा कि फरवरी महीने में कोरोना से लड़ने के लिए आपने क्या कदम उठाए। पहले ट्रम्प इस सवाल का जवाब देने से इनकार करते रहे, लेकिन अंत में भड़क गए।
  • ट्रम्प ने कहा- पिछले कुछ दिनों में देश में नए मामलों में कमी आई है। इसकी जानकारी न्यूयॉर्क, न्यूजर्सी, मिशिगन और लुइसियाना जैसे इस कोरोना के हॉटस्पॉट में अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या से मिली है।
  • उन्होंने कहा- ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि अमेरिकी गाइडलाइंस का पालन कर रहे हैं। पहले एक लाख से ज्यादा मौत की बात कही जा रही थी, लेकिन यह संख्या कम ही रहेगी।
  • डॉ. एंथोनी फॉसी ने भी ट्रम्प के बयान का समर्थन किया और कहा कि संक्रमण की रफ्तार में कमी आई है।
  • उन्होंने रविवार को उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि पहले से तैयारी की गई होती तो इतनी मौतें नहीं हुई होती। इसमें शब्दों का चयन सही नहीं था।
  • सीएनएन के मुताबिक, प्रवक्ता जिम लॉन्ग ने बताया कि न्यूयॉर्क के फायर डिपार्टमेंट ने कोरोना के नए मामलों की आज एक भी रिपोर्ट नहीं दी है। जब से यहां कोरोना का प्रसार शुरू हुआ है तब से ऐसा पहली बार हुआ है।
hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap