3 मई तक क्यों बढ़ाया लॉकडाउन? जानें इसके पीछे की वजह


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग के लिए देशभर में लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ाने का फैसला लिया. 25 मार्च से 14 अप्रैल तक चलने वाला 21 दिन का लॉकडाउन अब 3 मई तक कर दिया गया है.

PM मोदी ने 30 अप्रैल नहीं, 3 मई तक क्यों बढ़ाया लॉकडाउन? जानें इसके पीछे की वजह

नई दिल्ली:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग के लिए देशभर में लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ाने का फैसला लिया. 25 मार्च से 14 अप्रैल तक चलने वाला 21 दिन का लॉकडाउन अब 3 मई तक कर दिया गया है. रविवार को पीएम मोदी के साथ हुए बैठक में ज्यादातर राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला लिया. पंजाब, महाराष्ट्र, तमिलनाडु समेत कई राज्य सरकारों ने 30 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन को अपने राज्यों में एक्सटेंड कर दिया. हालांकि पीएम मोदी ने राष्ट्र के संबोधन में लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ाया. केंद्र सरकार ने 30 अप्रैल के बजाए 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला क्यों लिया, इसके पीछे की एक वजह है.

30 अप्रैल को गुरुवार है और अगले दिन शुक्रवार को 1 मई को पब्लिक हॉलीडे है. वहीं बाकी अगले दो दिन वीकेंड शनिवार और रविवार है. जिस वजह से प्रधानमंत्री ने 30 अप्रैल के बजाए इसे 3 दिन अधिक लॉकडाउन करने का फैसला लिया.

राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, ”साथियों, सारे सुझावों को ध्यान में रखते हुए ये तय किया गया है कि भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाना पड़ेगा. यानि 3 मई तक हम सभी को, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा. इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं. मेरी सभी देशवासियों से ये प्रार्थना है कि अब कोरोना को हमें किसी भी कीमत पर नए क्षेत्रों में फैलने नहीं देना है. स्थानीय स्तर पर अब एक भी मरीज बढ़ता है तो ये हमारे लिए चिंता का विषय होना चाहिए.” 

पीएम मोदी ने कहा, ”अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी. 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा, वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है, ये देखा जाएगा. जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे, जो Hotspot में नहीं होंगे, और जिनके Hotspot में बदलने की आशंका भी कम होगी, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है. इसलिए, न खुद कोई लापरवाही करनी है और न ही किसी और को लापरवाही करने देना है. कल इस बारे में सरकार की तरफ से एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी.”

hi_INHindi
hi_INHindi
Share via
Copy link
Powered by Social Snap